संवाद सूत्र,गुमला : सरकारी विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को बढ़ावा देने और विद्यालयों में आदर्श शैक्षणिक वातावरण के निर्माण करने के लिए गुमला जिला के 150 विद्यालयों को लीडर विद्यालय के रूप में विकसित किया जाएगा। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने प्रथम चरण में राज्य के सभी ग्राम पंचायतों में एक-एक विद्यालयों का चयन किया है जिसे लीडर विद्यालय के रूप में विकसित किया जाएगा। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की ओर से इन विद्यालयों में विशेष सुविधाएं उपलब्ध कराया जाएगा। आधारभूत संरचना और शिक्षकों एवं बच्चों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा के संचार के लिए आवश्यक एवं सुधार से इस विद्यालय की पहचान अन्य विद्यालयों से अलग होगी। एडीपीओ ने बताया कि लीडर विद्यालय के लिए परियोजना कार्यालय से जारी मापदंड के आधार पर डेढ़ सौ विद्यालयों का चयन किया गया है। विद्यालय चयन के मापदंड में वर्ग कक्ष, पेयजल सुविधा की उपलब्ध्ता और क्रियाशील, बालक शौचालय, बालिका शौचालय, हैंडवाश यूनिट, विद्युत की उपलब्ध्ता और क्रियाशील, कम्प्यूटर की उपलब्धता, खेल मैदान सहित अन्य संसाधनों को आधार बनाया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस