संवाद सहयोगी, पथरगामा : कोरका पंचायत अंतर्गत पकड़िया ग्राम के लोग आज भी कच्ची व कीचड़ भरी सड़क पर चलने को विवश हैं। ग्रामीण रितेश यादव, बमबम यादव रोशन यादव, राजाराम यादव, राजू कुमार, शिवम कुमार एवं कुलदीप यादव ने बताया कि उन्होंने गांव में कभी पक्की सड़क देखी ही नहीं। वर्षा के दिनों में सड़कों पर कीचड़ जम जाने के कारण गांव टापू बन जाता है। न कोई इस गांव में आ सकता है न जा सकता है। आपातकालीन स्थिति में लोग इसी कीचड़मय सड़कों को झेल कर ही आवाजाही करते हैं।

मरीजों को होती है परेशानी: बरसात के मौसम में गांव में अगर कोई बीमार पड़ जाय तो उन्हें कंधे पर टांग कर मुख्य मार्ग तक लेकर जाना पड़ता है। गांव एंबुलेंस भी नहीं आ सकती है। मुख्य सड़क पहुंचने में देर हुई तो मरीज की जान भी चली जाती है।

न प्रशासन न जनप्रतिनिधियों ने की पहल: ग्रामीण बताते हैं कि इस गांव की सड़क की समस्या के समाधान को न तो सांसद, विधायक व न ही जिला प्रशासन ने कभी पहल की है। जिसकी वजह से इस गांव के लोग नारकीय जीवन में जीने को विवश हैं। ग्रामीणों ने बताया कि वर्षों पूर्व तत्कालिन विधायक स्वर्गीय रघुनंदन मंडल से सड़क निर्माण कराने को कहा गया था। उन्होंने इसके लिए आश्वासन भी दिया था। लेकिन उनकी आकस्मिक मौत के बाद सड़क का पक्कीकरण सपना बन गया। ग्रामीणों ने बताया कि उनलोगों ने विधायक अमित मंडल को भी इस गांव की समस्या से अवगत कराते हुए सड़क बनवाने का आग्रह किया है। आश्वासन भी मिला है लेकिन अब तक कोई पहल नहीं हुई है।

Edited By: Jagran