गोड्डा : जिला विधिक सेवा प्राधिकार के तत्वावधान में बुधवार को गांधी जयंती के अवसर पर मंडल कारा परिसर में जेल अदालत का आयोजन किया गया। इस दौरान दो बंदियों को रिहा किया गया। रिहा होने वाले बंदियों में नगर थाना कांड-520/12 जीआर संख्या-1531/12 के तहत जेल में बंद बसंतराय थाना क्षेत्र के विजय झा एवं पौडैयाहाट थाना कांड संख्या -112/17, जीआर संख्या -1056/17 के आरोपित सत्यनारायण रविदास शामिल हैं। जेल अदालत की अध्यक्षता कर रहे मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सह प्रभारी सचिव संजय कुमार सिंह ने कहा कि अधिकार का अतिक्रमण करना कानूनन अपराध है। इसलिए सभी को अपने अधिकार व कर्तव्यों के प्रति सजग रहना चाहिए। कोई ऐसा कार्य नहीं करना चाहिए जिससे दूसरे के अधिकार का हनन हो और उसकी क्षति हो। कहा कि जाने- अनजाने में अगर छोटी अपराध हो गया है तो उसके लिए प्ली बारगेनिग का सहारा लेकर विवाद को खत्म कराया जा सकता है। प्ली बारगेनिग वैसे मामले में लागू होता है जिसमें सजा का प्रावधान सात साल से कम है। इसके लिए उभय पक्षों के बीच बातचीत कर क्षतिपूर्ति मुआजवा देकर छुटकारा पाया जा सकता है। इसमें कम से कम दंड का प्रावधान है। प्ली बारगेनिग के लिए संबंधित कोर्ट को जेल प्रशासन के माध्यम से आवेदन देने का प्रावधान है। इसके अलावा प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी राजेश रंजन कुमार, किशोर कुमार, जेल अधीक्षक मनोज कुमार, रिटेनर अधिवक्ता सादिक अहमद, अफसर हसनैन, अजित कुमार आदि ने भी बंदियों को कानून का पाठ पढ़ाया। इस अवसर पर डालसा के माधव झा, पीएलभी इंतेखाब आलम , जेल कर्मी नीरज कुमार आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप