गोड्डा : जिला मुख्यालय सहित सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों के दुर्गा मंदिरों सहित पूजा पंडालों में शारदीय नवरात्रा के पांचवें दिन देवी के स्कंधमाता रूप की आराधना की गई। जबकि सप्तमी को सभी मंदिरों में नवपत्रिका प्रवेश के साथ ही देवी की स्थापना की जायेगी। इसके साथ ही दुर्गापूजा का महान पर्व शुरू हो जायेगा। नवपत्रिका प्रवेश को लेकर शुक्रवार को विल्वभरण की विधिवत पूजा की जायेगी। दुर्गापूजा को लेकर प्रतिमा को अंतिम रूप दिया जा रहा है जबकि जगह-जगह भव्य तोरण द्वार लगाये गये हैं। पूजा पंडालों को आकर्षक रूप दिया गया है। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मंदिर के आसपास क्षेत्र में मेला का भी आयोजन किया गया है। जहां लोग अपनी मनपसंद वस्तुओं की खरीदारी कर सकेंगे। इसके लिए दुकानें सजाई जा रही है। वहीं मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ के मद्देनजर व्यापक व्यवस्था की गयी है। प्रशासन द्वारा सीसीटीवी कैमरे लगाने का फरमान जारी किया गया है। जिला मुख्यालय के बड़ी दुर्गा, रौतारा-बढ़ौना, शिवपुर- सिनेमा, गांधीनगर,सरकंडा के अलावा कुरमन, चिलौना आदि जगहों पर वैष्णवी दुर्गा की स्थापना की जाती है। जबकि बारकोप, महागामा, महेशपुर,मोतिया आदि जगहों पर पारंपरिक रूप से राजघराने के समय से दुर्गापूजा मनाने की परंपरा है। यहां भव्य मंदिर भी बनाये गये हैं। जहां सप्तमी पूजा से ही श्रद्धालुओं की भारी भीड़ लगी रहती है। दुर्गा पूजा मनाने को लेकर आम लोगों के बीच उत्साह का माहौल है। बाजारों में खरीददारी को लेकर काफी भीड़ लगी हुई है।

--------------------

बसंतराय : प्रखंड के डेरमा एवं बोदरा गांव स्थित पूजा पंडाल पर शारदीय नवरात्रा की शुरूआत से अंतिम दिन तक दुर्गासप्तशती का अखंड पाठ किया जाता है। दिन- रात हो रहे श्लोकों के पाठ से आसपास का वातावरण आध्यात्मिक हो गया है। डेरमा के आचार्य सुधीर चंद्र झा ने बताया कि यहां सौ वर्षों से यह परंपरा चली आ रही है। शारदीय नवरात्रा में देवी का अनवरत गुनगान होता रहता है। इससे बड़ी सौभाग्य की बात क्या हो सकती है। उसकी तरह बोदरा में भी यह कार्यक्रम आयोजित हो रहा है। बोदरा के पुजारी सदानंद मिश्र ने बताया कि पिछले 20 वर्षों से गांव के महादेव मंदिर परिसर में ही प्रतिमा स्थापित की जाती है।

------------------------

मेहरमा: प्रखंड मुख्यालय सहित क्षेत्र के विभिन्न गांवों में शारदीय नवरात्र व दुर्गा पूजा की धूम मची है। नवरात्र पाठ व भक्ति गीतों से माहौल भक्तिमय में बना हुआ है। पूजा को लेकर बाजारों में चहल- पहल बढ़ने लगी है। लोगों के घरों में मेहमानों और दूरदराज रहने वाले लोगों का वापस अपना घर आना शुरू हो गया है।स्थानीय शैलेंद्र नाथ महादेव मंदिर के अलावा पिरोजपुर, इटहरी, गोविदपुर, सिघाड़ी, बलबडडा आदि गांवों के दुर्गा मंदिरों व अधिकतर श्रद्धालुओं द्वारा अपने अपने घरों में कलश स्थापित कर नवरात्र पाठ किया जा रहा है। शारदीय नवरात्र के पांचवें दिन गुरुवार को मां दुर्गा के पांचवें स्वरूप मां स्कंदमाता की अराधना पारंपरिक रीति रिवाज के साथ हर्षोल्लास पूर्ण वातावरण में की गई। इस दौरान मंदिरों व पूजा पंडालों में सुबह- शाम नवरात्र पाठ,आरती, भजन से मंदिर सहित आसपास का वातावरण भक्तिमय बना हुआ है। नवरात्र पाठ सुनने व पूजा-अर्चना को लेकर मंदिरों व पूजा पंडालों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। बलबड्डा व सिघाड़ी में दशमी पूजा को तथा पिरोजपुर में एकादशी पूजा को भव्य मेला के साथ आदिवासी नृत्य संगीत प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया है। सफल प्रतिभागियों के बीच पूजा समिति की ओर से पारितोषिक का वितरण किया जाएगा। पूजा के सफल संचालन को लेकर पूजा समिति के सदस्यों द्वारा दिन रात मेहनत की जा रही है। पोडै़याहाट : प्रखंड मुख्यालय समेत ग्रामीण क्षेत्रों में दुर्गा पूजा को लेकर उत्साह चरम सीमा पर है । दुर्गा मंदिरों एवं पंडालों में प्रतिदिन दुर्गा सप्तशती के पाठ से एवं भक्तों की पूजा-अर्चना से वातावरण भक्तिमय बना हुआ है। गुरुवार को मां दुर्गा की स्कंदमाता रूप की पूजा की गई। प्रखंड मुख्यालय के बाजी रोड पुराना बाजार बंगाली टोला के अतिरिक्त ग्रामीण क्षेत्रों में पूर्वेडीह, बक्सरा, बिरनिया, मानिकपुर ,डांड़ै, पसई, द्रुपद ,रघुनाथपुर ,देवडांड़, लाठीबाड़ी, हरियारी आदि गांवों में आयोजकों द्वारा पूजा पंडालों को आकर्षक साज-सज्जा किया जा रहा है। वहीं रंग-बिरंगे बिजली की झालरों एवं प्रकाश व्यवस्था से पंडालों को आकर्षक बनाया जा रहा है। सभी पूजा पंडालों के द्वारा अपने-अपने तरह के कार्यक्रम तय किए जा रहे हैं । ----------------------

ठाकुरगंगटी : प्रखंड क्षेत्र के मोरडीहा, भगैया , माल मंडरो , बनियाडीह , चपरी , मिस्त्र गंगती , ठाकुर गंगटी गावों के दुर्गा मंदिरों में पांचवीं तिथि के रूप में माता स्कंदमाता की पूजा की गई। मोरडीहा दुर्गा मंदिर में कुल पुरोहित पंकज कुमार झा चंडी पाठ कर रहे हैं। वहीं क्षेत्र के अन्य मंदिरों में भी पूजा हो रही है। सभी जगहों पर पाठ के समय गांव के सभी नवरात्र उपासक उपस्थित हो रहे हैं। मोरडीहा गांव के मंदिर में नवरात्र के उपासक के साथ साथ संकल्पित बजरंग दल , पूजा समिति, युवा शक्ति क्लब के सदस्य , गांव के युवक, युवती, बुजुर्ग गणमान्य, शिक्षाविद आदि सैकड़ों को संख्या में भाग ले रहे हैं। प्रति संध्या बुजुर्ग कीर्तन भजन करते हैं । महिलाएं देवी गीत गाती है। रात्रि 09 बजे से दुर्गा नाट्य कला मंच के पर्दे पर रामायण कथा दिखाई जा रही है। आकर्षक ढंग से प्रतिमा का निर्माण कराया गया है। भव्य पंडाल व तोरण द्वार का भी निर्माण कराया गया है। सभी जगहों पर मेला की तैयारी भी अंतिम दौर में है। मोरडीहा गांव के दुर्गा पूजा समिति की बैठक में अध्यक्ष जयकांत यादव, कृष्ण कुमार वर्मा, राजेन्द्र प्रसाद वर्मा, धर्मेंद्र साह , पूर्णानन्द पंडित, फूलचंद कुमार , मिथिलेश साह, मूलाधर पासवान, गनौरी साव, बिलास यादव , ब्रह्मदेव साह , प्रकाश मण्डल , शंकर साह , संकर यादव , ब्रह्मदेव मण्डल ,अजय यादव , ज्योतिष साह आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप