ठाकुरगंगटी : प्रखंड क्षेत्र के भगैया ग्राम के हीरा खुटहरी में डेंगू बीमारी कहर बरपा रही है। हीरा खुटाहरी गांव में करीब एक दर्जन लोग बुखार से पीड़ित हैं। बासुकीनाथ राम 58 वर्ष काफी गंभीर रूप से बीमार हैं, वे बिस्तर से उठ कर बैठ नहीं पाते हैं। वहीं बासुकीनाथ राम का लड़का 30 वर्षीय अमरनाथ राम भी डेंगू से पीड़ित बताए जाते हैं। अमरनाथ राम पिछले कई दिनों से प्राइवेट क्लिनिक में इलाज करा रहे हैं। वहीं बासुकीनाथ राम के घर के बगलगीर अभय कुमार राम 32 वर्ष और उनकी पत्नी आरती देवी 26 वर्ष भी बुखार से पीड़ित है। बीते चार दिनों से हीरा खुटहरी गांव के कई लोग बुखार से पीड़ित बताए जा रहे हैं। लेकिन इसे देखने पूछने या जांच करने के लिए कोई भी सरकारी स्वास्थ्य कर्मी, एएनएम, सहिया आदि स्वास्थ्य कर्मी गांव नहीं आए। पीड़ित परिवार द्वारा बताया गया कि प्रखंड मुख्यालय के निकट स्थित हरि देवी रेफरल अस्पताल प्रबंधन को इसकी सूचना दी गई लेकिन इस पर कोई सुनवाई नहीं हुई है। अभी एक दर्जन पीड़ित मरीज झोलाछाप चिकित्सकों से इलाज कराने को मजबूर हैं। ठाकुरगंगटी प्रखंड क्षेत्र का भगैया सबसे बड़ा गांव है जिसे सिल्क ग्राम के नाम से लगभग देशभर के लोग जानते हैं। प्रखंड क्षेत्र का सबसे बड़ा बाजार भी भगैया ही है। इसके बावजूद इतने बड़े इस गांव के लोगों की स्थिति इतनी कष्टमय है, कि अभी इन बीमारों को देखने के लिए कोई सरकारी व्यवस्था नहीं है। जबकि यह गांव बिहार, झारखंड की सीमा पर स्थित है। हीरा खुटहरी गांव के निकट एक तालाब है जिसमें गंदगी का अंबार है। शायद उसी वजह से यहां बीमारी फैल रही है। बासुकीनाथ राम और अभय कुमार राम का घर इसी दूषित तालाब के किनारे ही है। ग्रामीणों ने जिले के सिविल सर्जन एवं उपायुक्त से भगैया के हीरा खुटहरी एवं निकटवर्ती सभी गांवों में चिकित्सक और चिकित्सा कर्मियों की टीम भेजकर पीड़ित का इलाज कराने और घर-घर बीमारी की जांच कराने , ब्लीचिग पाउडर का छिड़काव कराने, डीडीटी छिड़काव कराने आदि की मांग की है।

----------------------

प्रभावित गांवों में चिकित्सा टीम भेज कर उसकी जांच पड़ताल कराई जाएगी और पीड़ित मरीजों का तत्काल इलाज शुरू किया जाएगा। अभी तक किसी मरीज के डेंगू होने की पुष्टि नहीं हुई है। रेफरल अस्पताल में इलाज की सभी व्यवस्था है। चिकित्सा पदाधिकारी डॉ कुमार विवेकानंद वहां मरीजों को अटेंड कर रहे हैं। प्रभार ग्रहण करने के साथ ही यहां की चिकित्सकीय व्यवस्था को दुरुस्त करने का प्रयास कर रहा हूं।

- डॉ खालिद अहमद, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, हरि देवी रेफरल अस्पताल, ठाकुरगंगटी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप