जागरण संवाददाता, गोड्डा : ओबीसी छात्रावास में चल रहा केंद्रीय विद्यालय इस माह में ही नये भवन में शिफ्ट हो जाएगा। भतडीहा में बन रहे केंद्रीय विद्यालय के नये भवन के ग्राउंड फ्लोर का निर्माण पूरा हो चुका है। हालांकि, केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने अभी भवन को विभाग को नहीं सौंपा है। इधर, ओबीसी छात्रावास के कुछ कमरों की छत से प्लास्टर गिरने के बाद तुरंत ही स्कूल को नये भवन के ग्राउंड फ्लोर में शिफ्ट करने की कवायद शुरू हो गई है। इस संबंध में उपायुक्त किरण कुमारी पासी की सहमति भी मिल चुकी है। केंद्रीय विद्यालय संगठन से हरी झंडी मिलते ही विद्यालय शिफ्ट कर दिया जाएगा। बाद में उद्घाटन की औपचारिकता होगी।

17.64 करोड़ की लागत से हुआ निर्माण : 2007 में यहां केंद्रीय विद्यालय खुला था। तब से यह गोड्डा प्लस टू परिसर में स्थित ओबीसी छात्रावास में चल रहा है। राशि स्वीकृत होने के बाद भी भूमि की व्यवस्था नहीं होने की वजह से भवन का निर्माण शुरू नहीं हो पा रहा था। काफी मशक्कत के बाद भतडीहा में इसके लिए जमीन आवंटित हुई। 23 नवंबर 2015 को नए भवन का शिलान्यास हुआ। प्रारंभ में काफी धीमी गति से काम चल रहा था। प्राचार्य के रूप में एलडीएस यादव के पदभार ग्रहण करने के बाद इसके कार्यों में तेजी आई। हाल में भूमि विवाद की वजह से चारदीवारी का काम रुका था। उपायुक्त किरण कुमारी पासी के हस्तक्षेप के बाद वहां से अतिक्रमण हटाया गया जिसके बाद काम पूरा हुआ। भवन का निर्माण करीब 17.64 करोड़ की लागत से हुआ है। ग्राउंड फ्लोर पर करीब 20 कमरे हैं। इतने ही कमरे पहली मंजिल पर भी होंगे।

अगले सत्र से चलेंगे हर कक्षा के दो सेक्शन : विद्यालय में कक्षा एक से 12 तक की पढ़ाई होती है। यहां 415 बच्चे नामांकित हैं। अगले सत्र से सभी कक्षाओं के दो-दो सेक्शन चलेंगे। तब 900 छात्र-छात्राएं यहां पढ़ सकेंगे। प्राचार्य ने अप्रैल-मई में ही भवन हैंडओवर करने को कहा था। ऐसा हो गया होता तो 400 से अधिक छात्र-छात्राओं को लाभ होता। चारदीवारी निर्माण में विलंब से विद्यालय नये भवन में शिफ्ट नहीं हो पाया।

पीएम मोदी कर सकते हैं उद्घाटन : केंद्रीय विद्यालय के एक अधिकारी की मानें तो पूरे देश में करीब आधा दर्जन केंद्रीय विद्यालयों के भवन बनकर तैयार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कांफ्रें¨सग के माध्यम से एक साथ सभी भवनों का उद्घाटन कर सकते हैं। इसी वजह से प्राचार्य की ओर से उद्घाटन के भेजे गए प्रस्ताव को मुख्यालय ने अभी अस्वीकृत कर दिया है।

-----------------

कोट

ओबीसी छात्रावास के कई कमरे काफी जर्जर हो चुके हैं। नये भवन का ग्राउंड फ्लोर बनकर तैयार है। विद्यालय को वहां शिफ्ट करने की तैयारी चल रही है। उपायुक्त की सहमति मिल चुकी है। मुख्यालय से सहमति के बाद विद्यालय को वहां शिफ्ट कर दिया जाएगा।

एलडीएस यादव, प्राचार्य, केंद्रीय विद्यालय

Posted By: Jagran