गोड्डा : बाल विवाह उन्मूलन को लेकर मंगलवार को स्थानीय वृंदावन सभागार में दीप संस्था द्वारा आयोजित शिविर गर्ल नोट ब्रीयड्स विषयक कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसका शुभारंभ जिप सदस्य फूल कुमारी, जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी रीतेश कुमार, विधि सह परवीक्षा पदाधिकारी राजेश कुमार, विभिन्न खेल संघों के सचिव सुरजीत झा, विवेकानंद अनाथ आश्रम की निदेशिका वंदना दुबे आदि ने किया। संचालन संस्था की निदेशिका सुजाता कुमारी ने किया। मौके पर जिप सदस्य फूल कुमारी ने कहा कि बाल विवाह समाज का कोढ़ है। इसके लिए ईमानदार पहल की जरूरत है। लोगों को यह बताना होगा कि कम उम्र में शादी करने से उसकी जिदगी तबाह हो जाता है। इसलिए इसको अभियान के रूप में लेने की जरूरत है। जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी रीतेश कुमार ने कहा कि बाल संरक्षण इकाई बाल विवाह रोकने को लेकर सतत अभियान चला रही है। दर्जनों बाल विवाह को रोकने में भी सफलता मिली है। बावजूद बाल विवाह को रोकने के लिए स्थानीय स्तर पर जवाबदेही तय करने की जरूरत है। विधि सह परवीक्षा पदाधिकारी राजेश कुमार ने कहा कि बाल विवाह कानूनन अपराध है। उन्होंने बाल विवाह के कानूनी पहलुओं पर विस्तृत प्रकाश डाला। विभिन्न खेल संघ के सचिव सुरजीत झा ने कहा कि बाल विवाह को रोकने से ही स्वस्थ्य समाज की परिकल्पना की जा सकती है। इसके लिए समाज के सभी वर्गाें को गंभीर रूप से सोचने की जरूरत है। मौके पर दर्जनों पीएलभी एवं अन्य सामजिक संगठनों से संबंधित कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप