गोड्डा : नगर थाना पुलिस द्वारा गुरुवार की रात जब्त किए गए पांच हाइवा को शुक्रवार को छोड़ दिया गया। खनन विभाग व परिवहन विभाग को जांच में कोई गड़बड़ी नहीं मिली। वैसे यह पहली बार नहीं हुआ है। अक्सर रात के अंधेरे में वाहन ओवरलोड दिखते हैं लेकिन सुबह होते ही वे अंडरलोड हो जाते हैं। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के निर्देश पर दस जून से घाटों से बालू के उठाव पर रोक है फिर भी दिन-रात बालू लदे ट्रकों का परिचालन धड़ल्ले से हो रहा है। कहा जाता है कि इस दौरान डंपों से बालू का उठाव किया जाता है लेकिन डंप है कि घटने का नाम ही नहीं ले रहा है। कई डंप तो पहले से बड़े हो गए हैं। बताया जाता है कि रात के अंधेरे में घाटों से डंप पर बालू लाकर रख दिया जाता है। नगर पुलिस ने गुरुवार की रात बालू लदे पांच हाइवा को जब्त किया था। सभी हाइवा नो इंट्री के दौरान शहर में घुस गए थे। उस पर क्षमता से अधिक बालू भी लदे होने की बात कही गई। कहा गया कि इसकी जांच खनन व परिवहन विभाग करेगा लेकिन नगर थाने से परिवहन विभाग को जो पत्र भेजा गया उसमें केवल नो इंट्री का ही उल्लेख किया गया। इस वजह से चार हाइवा को पांच-पांच सौ व एक को पांच हजार रुपया जुर्माना लेकर छोड़ दिया गया। विभाग के अधिकारियों की मानें तो ट्रकों को जब्त करने पर नियमत: ओवरलो¨डग की जांच के लिए परिवहन व खनन विभाग को लिखना है। खनिज और उसके चालान की जांच खनन विभाग और ओवरलो¨डग की जांच परिवहन विभाग करता है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप