संवाद सहयोगी, जमुआ (गिरिडीह) : जमुआ बाजार से करीब डेढ़ किलोमीटर दूर इंदिरा गांधी उच्च विद्यालय के पीछे स्थित शिवसिंहडीह जंगल में वन विभाग के डैम में डूबने से रविवार दोपहर को दो छात्रों की मौत हो गई। दोनों बच्चे डैम में नहाने गए थे। हादसे की खबर फैलते ही डैम किनारे लोगों की भीड़ जुट गई। काफी मशक्कत के बाद स्थानीय लोगों ने दो घंटे बाद शाम चार बजे गहरे पानी से ढूंढकर दोंनों बच्चों के शवों को बाहर निकाला। जान गंवाने वाले बच्चों में जमुआ निवासी सुभाष अग्रवाल का 13 वर्षीय पुत्र वैभव कुमार और नकुल साव का 12 वर्षीय पुत्र नवनीत कुमार शामिल है। दोनों स्थानीय संत जोसफ स्कूल के छात्र थे। शव मिलने पर डैम किनारे स्वजनों के क्रंदन से माहौल गमगीन हो गया।

रविवार को स्कूल बंद रहने के कारण वैभव और नवनीत घर में बिना बताए स्नान करने डैम गए थे। साथ में दोस्त अर्पित और शिवम भी था। वैभव और नवनीत डैम में नहाने लगे और अर्पित और शिवम वहां जंगली बैर तोड़ने लगे। दोनों बच्चे डूबने लगे तो वहां गोबर चुन रही एक महिला ने शोर मचाना शुरू किया। शोर सुनकर अर्पित और शिवम के अलावा कुछ अन्य लोग भी वहां पहुंचे। तब तक बच्चे पानी के अंदर समा चुके थे। अर्पित और शिवम ने जमुआ आकर इस बात की जानकारी लोगों को दी। इसके बाद डैम में उनकी खोजबीन की जाने लगी। सैकड़ों की भीड़ डैम के पास जमा हो गई। काफी देर तक स्थानीय लोग शव को नही ढूंढ पाए तो विधायक केदार हाजरा की पहल पर खंडोली से गोताखोर की टीम एसपी अमित रेणु ने भेजी। गोताखोर के आने तक स्थानीय लोगों ने ही शव को डैम से बाहर निकाल लिया था। दोनों शव को अस्पताल लाया गया। वहां चिकित्सक सुशील कुमार ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

Edited By: Gautam Ojha

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट