जागरण संवाददाता, गिरिडीह: सीआरपीएफ व नेहरू युवा केंद्र की ओर से युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए जिले के उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र के 20 आदिवासी युवाओं की टोली रविवार को बेंगलुरु के लिए रवाना हुई। इससे पहले सीआरपीएफ की 7वीं बटालियन के कार्यालय सभाकक्ष में कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

द्वितीय कमान अधिकारी अनिल शर्मा ने कहा कि बेंगलुरु में सात दिवसीय कार्यक्रम में जनजातीय बच्चों को संस्कृति आदान-प्रदान का बेहतर अवसर मिलेगा। प्रतिभागी दूसरे प्रदेशों की संस्कृति को करीब से समझेंगे। युवाओं को ऐतिहासिक व धार्मिक स्थलों के भ्रमण का भी मौका मिलेगा। इसके अलावा राष्ट्रीय स्तर के सेमिनार, पैनल विचार-विमर्श में वे हिस्सा लेंगे।

सात दिनों का टूर: टीम सात दिनों तक वहां आयोजित कार्यक्रमों में हिस्सा लेगी। शिविर 16 से 22 जनवरी तक आयोजित है। टीम के साथ सीआरपीएफ के भी जवानों को भेजा जाएगा। मौके पर उप कमांडेंट सुभाष शर्मा, नेहरू युवा केंद्र के परवेज नय्यर के अलावा अन्य पदाधिकारी व नेहरू युवा केंद्र के लोगों के साथ दल के युवा मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस