गिरिडीह : महाशिवरात्रि पूरे जिला में धूमधाम से मनाई गई। शहर से लेकर गांव तक माहौल शिवमय हो गया। शुक्रवार को दिनभर शिव मंदिरों में पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा, जबकि रात में बाबा भोलेनाथ की बरात निकाली गई। बारात में विभिन्न देवी-देवताओं के साथ-साथ भूत-पिशाच की आकर्षक झांकी निकाली गई। विभिन्न स्थानों से निकली बारात में शिव भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। जिलेभर में भगवान शिव की ऐसी बारात निकली की धूम मच गई।

शहर से सटे दुखहरणधाम, पचंबा नर्वदाधाम, बरगंडा के विश्वनाथ मंदिर, पंजाबी मोहल्ला अरगाघाट शिव मंदिर, मकतपुर पंच मंदिर, कचहरी रोड स्थित शिव-हनुमान मंदिर सहित अन्य मंदिरों में पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी थी।

पुलिस लाइन में पुलिस परिवार की ओर से शिवरात्रि का भव्य आयोजन किया गया। एसपी सुरेंद्र कुमार झा, एएसपी दीपक कुमार समेत सभी पुलिस अधिकारियों एवं जवानों ने पूजा अर्चना की। इस मौके पर शाम में भगवान शिव की भव्य बारात निकाली गयी। शीतलपुर शिवशक्ति धाम में भव्य तरीके से शिवरात्रि मनाई गई। बीती रात वहां भगवती जागरण का आयोजन किया गया था। सरिसया शिव मंदिर में भी शिवरात्रि धूमधाम से मनाई गयी। सामाजिक कार्यकर्ता निरंजन राय के नेतृत्व में भगवान शिव की बारात निकाली गई।

झारखंडधाम : आस्था की नगरी झारखंडधाम में महाशिवरात्रि को ले भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। सुबह चार बजे ही मंदिर के पट खोल दिए गए। श्रद्धालुओं के जयकारे से पूरा धाम भक्तिमय हो उठा। पुरुष तथा महिलाओं की अलग-अलग लाइन लगाकर मंदिरों में प्रवेश कराया जा रहा था। भक्त शिव गंगा तथा मंदिर के समीप इरगा नदी में स्नान कर जलार्पण के लिए मंदिर में प्रवेश कर रहे थे। जिले के कई प्रखंडों के श्रद्धालुओं की भीड़ इसमें लगी थी। धनबाद, कोडरमा, हजारीबाग व बोकारो के अलावा अन्य राज्यों से भी लोग पहुंच रहे थे। चारों ओर से जगह-जगह ब्रेकेटिग कर मंदिर की ओर जाने वाले वाहनों को रोका जा रहा था। अनुमंडल पदाधिकारी धीरेंद्र कुमार सिंह, डीएसपी नवीन कुमार सिंह, जमुआ बीडीओ विनोद कुमार कर्मकार, सीओ रामबालक कुमार मंदिर परिसर पर निगाहें टिकाए हुए थे। रात में शिव विवाह की तैयारियों को लेकर मंदिर को सजाया गया।

बगोदर : बगोदर-हजारीबाग मुख्य मार्ग पर स्थित शिवलिकार जो 56 फीट ऊंचा है। इसमें महाशिवरात्रि को ले अहले सुबह से ही श्रद्धालु पूजा -अर्चना करने पहुंचने लगे और यह सिलसिला दिनभर चलता रहा। मंदिर के पुजारी वेदांता पाठक ने बताया कि महाशिवरात्रि पर रात में शिव पार्वती का विवाह हुआ। सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 

सियाटांड़ : झारखंड-बिहार की सीमा पर स्थित जीरानाथधाम में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने लगी।

निमियाघाट : जामतारा, इसरी बाजार, निमियाघाट, कुलगो, चैनपुर, नगरी, पोरदाग, असुरबांध, लोहेडीह, असनासिघा सहित अन्य स्थानों पर स्थित शिवालयों में सुबह से ही शिवलिग पर जलाभिषेक व पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ने लगी। शाम तक मंदिरों में पूजा के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। डुमरी शिव मंदिर में शिवचर्चा का आयोजन किया गया। देर शाम डुमरी ब्लॉक कॉलोनी व इसरी बाजार स्थित शिव मंदिर से बरात निकाली गई। 

छोटकी खरगडीहा : क्षेत्र के तमाम शिवालयों में शिवभक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। सुबह से ही शिवालयों में जलार्पण के लिए नहा धोकर भक्त कतार में लग गए। विशेषकर काफी संख्या में महिलाएं एवं युवतियां देखी गईं। क्षेत्र के भंवरडीह स्थित  शिवालय के आसपास मेला जैसा नजारा देखा गया। भंवरडीह, पहाड़पुर, खोशोखर, हरला, छोटकी खरगडीहा स्थित सभी शिवालयों में भक्तों की भीड़ देखी गई। इस अवसर पर लोगों ने उपवास रखकर जल का अर्पण किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस