जागरण संवाददाता, गिरिडीह : हार्डकोर महिला नक्सली मूर्ति राणा की गिरफ्तारी के बाद जमुई औक गिरिडीह जिला पुलिस एवं सीआरपीएफ की टीम कुख्यात नक्सली सिधो कोड़ा की गिरफ्तारी के लिए दबाव बना रही है। गिरिडीह एवं जमुई जिले के सीमावर्ती क्षेत्रों में दोनों ओर से पुलिस व सीआरपीएफ सिधो कोड़ा की घेराबंदी कर रही है। गिरफ्तार महिला नक्सली से मिले सुराग के आधार पर छापेमारी की जा रही है। अभी तक कोई सफलता हाथ नहीं लगी है।

सिधो कोड़ा बिहार एवं झारखंड दोनों राज्यों की पुलिस के निशाने पर है। दर्जनों हत्याओं एवं नरसंहार में उसकी संलिप्तता रही है। सिधो कोड़ा को पुलिस यदि गिरफ्तार कर पाती है तो सीमांचल जोन को नक्सल मुक्त करने के अभियान को बड़ा बल मिलेगा। जमुई पुलिस ने चंद्रमंडीह थाना क्षेत्र के ताराखार गांव से मूर्ति राणा को सोमवार को गिरफ्तार किया था। वह अपनी नानी के घर गयी थी। इसी दौरान पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। मूर्ति सिधो कोड़ा की बेहद करीबी मानी जाती है। गिरफ्तारी के बाद से ही पुलिस एवं सीआरपीएफ हथियारों की बरामदगी एवं सिधो कोड़ा की तलाश के लिए मूर्ति को साथ लेकर जंगलों को छान मार रही है। गिरिडीह जिले के भेलवाघाटी, देवरी, तिसरी एवं गावां थाना क्षेत्रों में घटी नक्सली हिसा को सिधो कोड़ा ही लीड करता रहा है। भेलवाघाटी की मुखिया के पुत्र समेत दो लोगों की हत्या में भी वह संलिप्त रहा है। ऐसे दर्जनों मामलों में गिरिडीह पुलिस सिधो कोड़ा की तलाश कर रही है। नक्सली सिधो कोड़ा के नेतृत्व में लोकसभा चुनाव के दौरान ही भेलवाघाटी एवं तिसरी इलाके में हिसक घटना को अंजाम देने की कोशिश में थे। गिरिडीह पुलिस की सटीक रणनीति के कारण नक्सली इसमें सफल नहीं हो सके थे। पुलिस ने ऐसी घेराबंदी की थी कि नक्सली अपने मांद से बाहर तक नहीं निकल सके थे।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran