गाडेय(गिरिडीह): कोरोना वायरस के कारण लॉक डाउन में लोगों को भोजन के समुचित उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए मुख्यमंत्री के निर्देश पर जेएसएलपीएस के महिला समूह की महिलाओं के द्वारा दीदी किचेन सेंटर चलाया जा रहा है। यहा भूखे व लाचार लोगों को निश्शुल्क भोजन कराया जाता है। विभिन्न पंचायतों में डीलर की मनमानी के कारण गरीबों को सही मात्रा में राशन नहीं मिल पा रहा है। गाडेय के बीडीओ हरि उराव एवं सीओ धनंजय पाठक ने मंगलवार को प्रखंड के फुलजोरी पंचायत के गोविंदपुर में संचालित दीदी किचेन सेंटर का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्त्रम में ग्रामीणों ने राशन की कमी की शिकायत की। इसपर पदाधिकारियों ने संबंधित पंचायत के विभिन्न जन वितरण प्रणाली के दुकान का निरीक्षण किया। इसी क्त्रम में उजाला एसएचजी निरीक्षण में दुकान के बाहर बोर्ड नहीं लगे होने व सही संचालन नहीं का मामला प्रकाश में आया। वहीं ग्रामीणों से राशन वितरण से संबंधित पूछताछ करने पर कुछ कार्डधारकों ने डीलर के द्वारा राशन की कटौती कर राशन देने की शिकायत की गई। इसे गंभीरता से लेते हुए बीडीओ व सीओ ने संयुक्त रूप से उजाला एसएचजी को दोषी मानते हुए प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी को पत्र के माध्यम से अनुज्ञप्ति धारी के विरुद्ध आपदा प्रबंधन की अधिनियम 2005 की धारा 53 की तहत प्राथमिकी दर्ज करते हुए उक्त दुकान को अन्य किसी दुकान से संबद्ध कराकर राशन वितरण कराने का निर्देश दिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस