संवाद सहयोगी, मधुबन: विराट संघ के सानिध्य में पर्व राज पर्युषण की शुरुआत शुक्रवार से होगी जिसमें सम्मिलित होने देश के कोने कोने से हजारों की संख्या में जैन श्रद्धालु उपस्थित होने लगे हैं। जप, तप, संयम व साधना के इस पर्व में दस दिनों तक श्रद्धालु बहुत ही नियमपूर्वक दिनचर्या में शामिल होते है। इसमें प्रत्येक दिन अलग अलग पूजन विधान आदि किया जाता है। जैन आगम में पर्युषण पर्व को पर्वों का राजा कहा गया है इस लिए इस पर्व को मनाने देशभर से दिगंबर समुदाय के लोग सम्मेद शिखरजी आते हैं। आचार्य विराग सागर जी महाराज के संघ समुदाय के पावन सानिध्य में 10 दिनों तक श्रद्धालु धर्म की गंगा में डुबकी लगाएंगे।

Posted By: Jagran