जागरण संवाददाता, गिरिडीह : कोरोना वायरस से बचाव के नाम पर गुरुवार को अधिवक्ताओं के वाहन को न्यायालय में प्रवेश करने पर रोक दी गई। इससे भड़के अधिवक्ताओं ने मुख्य गेट को जाम कर न्यायिक कार्यो का बहिष्कार कर दिया। अदालत गेट पर अधिवक्ता धरना पर बैठ गए। शाम करीब चार बजे धरना समाप्त हुआ। हालांकि दोपहर दो बजे के बाद कुछ अधिवक्ताओं ने अदालती कार्रवाई में हिस्सा लिया।

धरना खत्म होने के बाद अधिवक्ता संघ भवन में वरिष्ठ अधिवक्ताओं के साथ अध्यक्ष दुर्गा पांडेय व सचिव चुन्नूकांत ने बैठक की। इस मुद्दे को लेकर आगे की रणनीति तय करने को जेनरल बॉडी की बैठक 31 मार्च के बाद बुलाने का निर्णय लिया गया। हाइकोर्ट के निर्देशानुसार 31 मार्च तक जेनरल बॉडी की बैठक नहीं हो सकती है। इसके पूर्व इसके लिए अधिवक्ताओं के बीच हस्ताक्षर अभियान चलाने पर सहमति बनी।

वकीलों की मानें तो सुबह 10 बजे से ही जैसे अधिवक्ता न्यायालय परिसर में अपने वाहन लेकर आए तो वहां तैनात सुरक्षा कर्मियों ने रोक उन्हें रोक दी। सुरक्षा कर्मियों का कहना था कि न्यायाधीश के आदेश का पालन किया जा रहा है। वाहन रोके जाने से नाराज अधिवक्ता संघ के सदस्य मुख्य गेट को जाम कर दिया। अधिवक्ताओं ने कहा जब उनके वाहन के प्रवेश पर रोक है तो न्यायाधीश और न्यायालय कर्मियों के वाहन को भी रोका जाए। इस निर्णय से नाराज होकर न्यायिक कार्य का भी बहिष्कार कर दिया। वे मुख्य गेट पर दरी बिछाकर जमीन पर बैठ गए। संघ का धरना दिनभर चला। संघ के अध्यक्ष दुर्गा पांडेय,सचिव चुन्नुकान्त, उपाध्यक्ष बालगोविन्द साहू, वरिष्ठ अधिवक्ता प्रकाश सहाय,अजय कुमार सिन्हा, विशाल आनंद, परमेश्वर मंडल, शिवेंद्र सिन्हा, सूरज नयन, तुलसी महतो,ज्योतिष कुमार सिन्हा, कमलेश्वर नारायण देव, संजीव रंजन,मीरा कुमारी आदि ने धरने को संबोधित किया। कहा कि जबतक प्रधान जिला जज इस विषय में वार्ता नही करेंगे, विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। इधर एक अधिवक्ता को न्यायालय में पैरवी करते हुए संघ के सदस्यों ने पकड़ा। अधिवक्ता की दूसरे अधिवक्ताओं ने जमकर फजीहत की।

---------------------------------

कोरोना वायरस को देखते हुए हाइकोर्ट के निर्देश पर अदालत परिसर में 31 मार्च तक भीड़-भाड़ नहीं लगाना है। इस दौरान सिर्फ आवश्यक कार्य ही निपटाए जाएंगे। यही कारण है कि अदालत परिसर में वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाया गया है।

निशिकांत रजिस्ट्रार, सिविल कोर्ट गिरिडीह

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस