जागरण संवाददाता, गिरिडीह: मुफस्सिल थाना क्षेत्र के पहाड़पुर गांव के बीच टोला में बुधवार को उत्पाद विभाग की टीम ने छापेमारी की। छापेमारी के क्रम में अवैध शराब निर्माण को लेकर चलाई जा रही मिनी फैक्ट्री का खुलासा हुआ है। अवैध शराब निर्माण के गोरखधंधे में शामिल कारोबारी पहाड़पुर गांव निवासी कुमार किस्कू व उसका पार्टनर सुकर चौड़े समेत इस धंधे को अंजाम देने में लगे अन्य लोग पुलिस के आने की भनक लगते ही भाग निकले।

विभाग के पुलिस अवर निरीक्षक ललित कुमार ने बताया कि पहाड़पुर गांव के बीच टोला में अवैध शराब निर्माण को लेकर मिनी फैक्ट्री के संचालित किए जाने की गुप्त सूचना उत्पाद अधीक्षक अवधेश कुमार को दी गई। सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए विभाग ने एक टीम गठित कर पहाड़पुर गांव में छापेमारी अभियान चलाया, जिसमें रॉयल स्टैग के लेबल लगे बोतल में डेढ़ सौ लीटर शराब के अलावा शराब बनाने में प्रयुक्त होने वाली सामग्रियों को जब्त किया गया। बताया कि कुमार किस्कू अपने सहयोगी सुकर चौडे के साथ मिलकर अपने घर में अवैध शराब निर्माण की फैक्ट्री लगा नकली विदेशी शराब बनाने का काम करता था। इस धंधे में उक्त दोनों के अलावा अन्य लोगों के शामिल होने की भी जानकारी विभाग को मिली है। उत्पाद विभाग नकली शराब बनाने के कारोबार में संलिप्त कारोबारियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने के बाद आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी अभियान चलाएगा।

छापेमारी टीम में ये थे शामिल: छापेमारी टीम का नेतृत्व पुलिस अवर निरीक्षक ललित सोरेन कर रहे थे। टीम में वैद्यनाथ उरांव, अनूप कुमार, अनीता मरांडी के अलावा सशस्त्र बल व होमगार्ड के जवान शामिल थे।

जब्त सामग्री: छापेमारी के दौरान शराब के अलावा तीन हजार रैपर, पांच हजार ढक्कन, खाली बोतल एक हजार पीस, स्प्रिट एक सौ लीटर, स्पंजक लेबल पांच हजार पीस, खाली पेटी एक हजार पीस, ¨सटेक्स की बड़ी टंकी दो, ड्रम तीन पीस व जार दस पीस के अलावा शराब बनाने में प्रयोग की जाने वाली अन्य सामग्री जब्त की गई।

Posted By: Jagran