गिरिडीह : कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर वैक्सीन लेने के लिए वैक्सीनेशन सेंटरों पर लोग पहुंचकर अपनी बारी आने पर वैक्सीन लेने को जुट रहे हैं। इसमें युवा वर्ग से लेकर बुजुर्ग और महिला वर्ग से लेकर छात्र वर्ग शामिल हैं। वैक्सीनेशन सेंटर पर युवाओं की खूब भीड़ जुट रही है और अपनी बारी आने के बाद वैक्सीनेशन कराकर कोरोना से अपने आप को सुरक्षित कर रहे हैं। साथ ही स्वयं वैक्सीन लेने के बाद दूसरों को भी लेने का संदेश दे रहे हैं। जमुआ के राजेश कुमार ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन लेना जरूरी है। इसमें किसी प्रकार का कोई संकोच नहीं करना चाहिए। शहर के शास्त्रीनगर के रहने वाले आयुष कुमार ने बताया कि पहले वैक्सीन लेने में थोड़ा संकोच हो रहा था लेकिन पहली डोज लेने के बाद अब दूसरी डोज लेने में तनिक भी दिक्कत नहीं हुई। मोहनपुर के संजय कुमार ने बताया कि वैक्सीन ही कोरोना संक्रमण से बचाव का फिलहाल सशक्त माध्यम है। साथ ही सतर्कता व एहतियात भी जरूरी है। ऐसे में वैक्सीन नहीं ले पानेवाले लोगों को वैक्सीन लेने के लिए आगे आने की जरूरत है।

जिले के 14 केंद्रों पर 7724 लोगों ने ली वैक्सीन : कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर जिले के 14 अलग-अलग वैक्सीनेशन सेंटरों पर 7724 लोगों ने वैक्सीन ली। इसमें कोविशील्ड व कोवैक्सीन की पहली व दूसरी डोज लेने वाले लाभार्थी शामिल हैं। इसके तहत 18 प्लस से 44 वर्ष के 4842 लोगों ने पहली जबकि 535 लोगों ने दूसरी डोज ली। वहीं 45 प्लस से 59 वर्ष के 1369 लोगों ने पहली व 611 लोगों ने दूसरी डोज ली जबकि 60 प्लस आयु वर्ग के 280 लोगों ने पहली व 72 लोगों ने दूसरी डोज ली। वहीं एचसीडब्लू एवं एफएलडब्लू के 15 लोगों ने कोरोना से बचाव की दूसरी डोज लिया। इसमें 580 लोगों ने कोवैक्सीन की पहली व 185 लोगों ने दूसरी डोज ली।

Edited By: Jagran