जागरण टीम, गिरिडीह: चैती दुर्गा पूजा के अवसर पर शुक्रवार को मंदिरों में काफी भीड़ उमड़ पड़ी। लोग मां का दर्शन करने को लाइन में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे।

बनियाडीह: भाजपा के जिला उपाध्यक्ष मनोज सिंह के आवास में चैती दुर्गा पूजा पर मां दुर्गा की आकर्षक प्रतिमा स्थापित की गई है। शुक्रवार की सुबह बेलभरणी पूजा के लिए जलयात्रा निकली। सुबह 9 बजे से महासप्तमी की पूजा प्रारंभ हुई। मां दुर्गा के दर्शन के लिए पूजा पंडालों में दिन भर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। पंडित कैलाश मिश्रा ने बताया कि शनिवार को महाष्टमी पूजा एवं आरती होगी। रविवार की सुबह महानवमी पूजा एवं संध्या आरती पूजा होगी। सोमवार की सुबह दशमी पूजा एवं दोपहर तीन बजे प्रतिमा विसर्जन किया जाएगा।

बिरनी: बिरनी के वृंदा, पड़रिया, मां डबरसैनी पहाड़, बरांय, पोखरिया, द्वारपहरी आदि में वासंतिक चैती दुर्गा की प्रतिमा स्थापित कर धूमधाम से पूजा-अर्चना की गई। भव्य मेले का भी आयोजन किया गया। शुक्रवार को महाष्टमी पूजा के लिए मंडपों में पूजा अर्चना के लिए भक्तों की भीड़ सुबह से उमड़ पड़ी। पुजारी महेश पांडेय ने बताया कि महाष्टमी पूजा करने से भक्तों की मनोकामना पूर्ण होती है।

डुमरी: शुक्रवार की सुबह नवपत्रिका आगमन के साथ दुर्गा मंदिरों में मां का पट खुला। पट खुलते ही दुर्गा मंदिरों में श्रद्धालुओं का तांता लग गया। वनांचल चौक स्थित दुर्गा मंदिर, इसरी बाजार, हटियाटांड़ स्थित दुर्गा मंदिर, लोहेडीह, चंदनाडीह नगर आदि क्षेत्रों में दुर्गा मंदिरों में प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा हुई।

धनवार: धनवार के डोरंडा स्थित चैती दुर्गा मंदिर के पट का सीओ शशिकांत सिकर ने अनावरण कर पूजा अर्चना की। मौके पर उनके साथ सीआइ रामजी प्रसाद गुप्ता, कर्मचारी धनंजय प्रसाद, सुनील मोदी, नित्यानंद पांडेय आदि थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस