जागरण संवाददाता, गिरिडीह : सदर प्रखंड के महेशलुंडी गांव में इस बार रामनवमी पूजा सादगी से मनाई जाएगी। पूजा में ग्रामीणों को न तो प्रसाद चढ़ाने की अनुमति होगी और न ही झंडा लगाने की। पूजा में केवल पंडित और पुजारी शामिल होंगे। लॉकडाउन और कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए बजरंगबली पूजा समिति महेशलुंडी ने यह निर्णय लिया है।

समिति के अध्यक्ष सुरेश राम और सचिव कमलचंद साहू ने बताया कि महेशलुंडी में इस वर्ष सादगीपूर्ण तरीके से रामनवमी मनाई जाएगी। न तो अखाड़ा लगेगा और न ही जुलूस निकाला जाएगा। पूजा में केवल पंडित और पुजारी दो ही लोग शामिल होंगे। पूजा के दौरान भीड़ नहीं लगे इसका पूरा ख्याल रखा जाएगा। इसके लिए ग्रामीणों व श्रद्धालुओं का न प्रसाद और न ही झंडा यहां स्वीकार किया जाएगा। समिति ने ग्रामीणों से प्रसाद, झंडा आदि लेकर नहीं आने का आग्रह किया है। साथ ही अपील की है कि ग्रामीण यहां आकर भीड़ लगाने के बजाय अपने-अपने घर में ही पूजा करें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस