सियाटांड़ : नवडीहा ओपी अंतर्गत गम्हरिया गांव में वासुदेव रविदास के आवास पर उनके 25 वर्षीय दामाद बबलू दास का खून से सना शव सोमवार की रात करीब दस बजे मिला। सिर के पीछे जख्म के निशान मिले हैं। बबलू की हत्या करने का आरोप उसके पिता हेमलाल दास ने ससुरालवालों पर लगाया है। घटना के बाद से वासुदेव रविदास एवं उसकी पत्नी फरार है, जबकि बबलू की पत्नी डुमरी देवी का कहना है कि बबलू ने खुदकशी की है।

नवडीहा ओपी प्रभारी प्रभात कुमार सिंह ने बताया कि प्रथमदृष्टया यह हत्या का मामला लग रहा है। वैसे पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही सही कारणों का पता चल सकता है।

मंगलवार की सुबह करीब साढ़े 11 बजे सूचना पाकर नवडीहा ओपी से पुलिस अधिकारी एवं जवान मौके पर पहुंचे। दोपहर करीब एक बजे पुलिस शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए गिरिडीह सदर अस्पताल भेज दिया। बबलू दास बेंगाबाद थाना अंतर्गत महेशमुंडा के बंधाबाद गांव का रहने वाला था। बबलू का विवाह डुमरी देवी से पिछले साल सात जुलाई को हुआ था।

वासुदेव रविदास अपनी बेटी डुमरी देवी को ससुराल नहीं भेज रहे थे। इस कारण उनका अपने दामाद बबलू दास के साथ विवाद चल रहा था। बबलू अपनी पत्नी डुमरी देवी की विदाई के लिए अड़ा हुआ था। विदाई नहीं देने के कारण वह भी करीब तीन महीने से ससुराल में ही रह रहा था। कई बार पंचायती भी हुई थी, लेकिन वासुदेव ने अपनी बेटी को विदा करने से इंकार कर दिया था। बबलू की मौत की जानकारी मंगलवार की सुबह गांव वालों को हुई। बबलू की मौत की सूचना पाकर उसके पिता हेमलाल दास एवं परिवार के अन्य सदस्य महेशमुंडा बंधाबाद से गम्हरिया पहुंच गए हैं। साजिशपूर्वक बबलू की हत्या करने का आरोप उसके ससुराल वालों पर लगाया है। नवडीहा ओपी के एएसआई युगल उरांव एवं नरेंद्र शर्मा ने परिजनों का बयान लिया है। दोनों ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस