गिरिडीह: जिले के देवरी व सरिया प्रखंड क अलग-अलग गांवों में हुई दर्जन भर से अधिक मौत की मामले की जांच के लिए सोमवार को दो सदस्यीय टीम सदर अस्पताल पहुंची। इस टीम में पीएमसीएच धनबाद के मेडिसीन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ एजे अंसारी व सहायक प्राध्यापक डॉ रवि रंजन शामिल थे। सदर अस्पताल पहुंचने के बाद टीम के सदस्य प्रभारी सिविल सर्जन सह जिला आरसीएच पदाधिकारी डॉ सिद्धार्थ सान्याल से मामले को लेकर विस्तार से जानकारी लिया। तत्पश्चात टीम में शामिल दोनों चिकित्सक सदर अस्पताल के वार्ड में भर्ती देवरी के गादी कला गांव के मरीजों का चिकित्सीय जांच किया व हाल जाना। साथ ही घटना के संबंध में खानपान से संबंधित जानकारी लिया। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि प्रथम ²ष्ट्या मामला अत्यधिक अल्कोहल सेवन का प्रतीत होता है। बताया कि यहां भर्ती एक महिला की जांच की गई है। जिसमें उसकी स्वास्थ्य की परेशानी पूर्व से होने की बात प्रतीत होती है। वैसे यहां भर्ती मरीजों की स्थिति पूरी तरह से नियंत्रित है। वहीं डॉ सान्याल ने बताया कि उक्त गांव में अन्य गांवों से अपने रिस्तेदारों के पास लोग पहुंचे थे। खानपान व रहने तथा ठंड के कारण इन लोगों को दिक्कत हहुई होगी जिस कारण तबीयत बिगड़ी हो सकती है। वैसे बीमार मरीजों का रक्त संग्रह कर उसकी जांच कराई गई है जिसमें किसी प्रकार की कोई मलेरिया वगैरह की बात जांच में सामने नहीं आई है। इसके बाद टीम के दोनों सदस्य जिला वीबीडी पदाधिकारी डॉ सत्यवती हेम्ब्रम के साथ सरिया के फकीरापहरी गांव व देवरी के गादीकला गांव क लिए रवाना हो गई। टीम देर शाम तक प्रभावित गांवों का भ्रमण कर वापस मुख्यालय नहीं लौट पाई थी।

देवरी : थाना क्षेत्र के गादी कला में छह लोगों की मौत मामले की जांच को पीएमसीएच धनबाद एवं देवरी सामुदायिक स्वस्थ केन्द्र की चिकित्सा टीम ने संयुक्त रूप से गादीकला गांव पहुंची। यहां कैंप लगाकर लोगों की जांच भी किया। इस क्रम में पीएमसीएच से आए चिकित्सक डॉ रवि ने मृतक गणेश राय व सागर सिंह के परिजनों से पूछताछ कर जानकारी ली। चिकित्सक डॉ. एजे अंसारी ने मृतक खेमचन्द राय व डेगेन यादव के परिजनों से इस घटना से संबंधित जानकारी ली। टीम के सदस्यों ने बताया कि बीमार ग्रामीणों की जांच की गई है। सब कुछ सामान्य प्रतीत होता है लेकिन इस घटना में मृत हुए लोगों के शवों के पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ विशेष कहा जा सकता है।

सरिया: जहरीली शराब मामले में स्वास्थ्य जांच को लेकर सोमवार की दोपहर पीएमसीएच से दो सदस्यीय डॉक्टरों की टीम फकीरापहरी पहुंची । इनमें डॉ. रवि रंजन एवं डॉ. एजे अंसारी के अलावे बगोदर के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ बच्चा सिंह शामिल थे। टीम ने गांव के आधे दर्जन से अधिक लोगों के स्वास्थ्य की जांच की। इस क्रम में अशोक पासवान नामक व्यक्ति में शराब के असर का लक्षण पाया गया। इसके बाद उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया । डॉक्टरों की टीम ने ये स्पष्ट किया कि देशी शराब के किसी खास खेप में मिथांइल अल्कोहल की मात्रा अधिक रही होगी जो लीवर को ब्लॉक कर देती है। उसके कुछ घंटे बाद सीने में दर्द व हरे रंग की उल्टी होती है जो प्वाइजन के लक्षण को दर्शाता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस