डुमरी (गिरिडीह) : अपराधियों ने हथियार के बल पर शिक्षक बंधु के घर से नगदी व जेवरात समेत लाखों रुपये की संपत्ति लूट ली। घटना डुमरी थाना क्षेत्र के ढिबरा गांव में गुरुवार देर रात को हुई। करीब आधा दर्जन नकाबपोश हथियारबंद अपराधियों ने शिक्षक नागेश्वर रविदास एवं उनके भाई विजय रविदास के घर में घटना को अंजाम दिया। अपराधियों ने लगभग तीन लाख रुपये के जेवरात व करीब 90 हजार रुपये नकद लूट लिए।

अपराधियों ने घर की महिलाओं के साथ मारपीट भी की। हल्ला होने पर जुटे ग्रामीणों ने अपराधियों को खदेड़ा। इससे घबराकर अपराधी एक कट्टा व बाइक वहीं छोड़कर भाग गए। सूचना पाकर डुमरी के थाना प्रभारी उपेंद्र कुमार राय पुलिस बल के साथ शुक्रवार सुबह घटनास्थल पर पहुंचे। अपराधियों की तलाश में पुलिस उत्तराखंड के कई इलाकों को खंगाल रही है। कट्टा व बाइक पुलिस जब्त कर थाना ले गई। दोनों भाइयों का आवास एक ही परिसर में है। शिक्षक नागेश्वर रविदास धनबाद जिले के निरसा में पदस्थापित हैं जबकि उनके भाई विजय रविदास मुंबई में काम करते हैं। घटना के वक्त दोनों अपने-अपने कार्य स्थल पर ही थे।

रात करीब 12 :20 बजे आधा दर्जन से अधिक अपराधी चहारदीवारी फांदकर परिसर में घुस गए। इसके बाद वहां बंधी बकरियों को लाठी से पीटना शुरू कर दिया। बकरियों की आवाज सुनकर देखने के लिए विजय की पत्नी गीता देवी दरवाजा खोलकर कमरे से बाहर निकली। बाहर निकलते ही अपराधियों ने रिवॉल्वर दिखाकर उसे अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद गीता के जरिए नागेश्वर के घर का ताला तोड़ा। एक कमरे में सो रहे गीता के भाई को भी बंधक बना लिया व गमछा से उसके मुंह को बांध दिया व घर से कुछ दूर ले गए। अपराधियों ने घर में रखे गोदरेज को बसला से तोड़कर भाई की शादी के लिए खरीदकर लाए गए सोने के जेवरात निकाल लिए। शनिवार को लड़की को छेकाई की बात थी।

अपराधियों ने घर में मौजूद तीन बच्चे-बच्चियों को रिवॉल्वर दिखाकर चुपचाप सोने को कहा। हल्ला करने पर गोली मारने की धमकी दी। नागेश्वर रविदास के घर से अलमारी तोड़ सोने की बाली, कर्न फूल, मांग टीका, चांदी की पोची, दो पायल, चार कमर खोंसनी, नकचन, चार हजार रुपये नकद, बैंक पासबुक, जमीन के कागजात ले गए। सभी को लगभग तीन घंटे कब्जे में रखा व सारा सामान निकाल लिया और गोदरेज बक्सा आदि तोड़कर डकैती की घटना को अंजाम दिया। नागेश्वर रविदास के आवास से करीब डेढ़ लाख रुपये के जेवरात, 4 हजार रुपये नकद तथा विजय के आवास से डेढ़ लाख रुपये के जेवरात, 86 हजार रुपये नगद लूट लिए। अटैची को सबल से तोड़कर सोने का कान नाक का जेवरात, मांग टीका, सोने का चैन, मंगल सूत्र, लोकेट, चांदी की तीन पायल, बाला, कमर खोसनी व एसकेएस व उत्कर्ष से भाई की शादी के लिए लिया लोन 86 हजार रुपये नगद लूट लिए। गीता के भाई की शादी तीन मार्च को है। इसके लिए उसने बैंक से लोन लिया था। अपराधियों के निकलते ही गीता ने मुंबई में अपने पति विजय को मोबाइल से घटना की जानकारी दी। विजय ने तुरंत गांव के एक साथी को जानकारी दी। जानकारी मिलते ही गांव के कई लोग घर से निकले। तब तक अपराधी अपनी बाइक स्टार्ट कर रहे थे। वे तीन बाइक पर आए थे। दो बाइक से लोग चालमो व तिलैया की ओर भागे। एक बाइक चालू नहीं हो पाने के कारण जल्दबाजी में व ग्रामीणों को जुटते देख अपराधी घबरा गए। भागने के क्रम में उनकी एक बाइक व कट्टा वहीं छूट गया व अपराधी भागने मे सफल रहे। परिजनों ने थाना में आवेदन देने की बात कही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस