झारखंडधाम (गिरिडीह) : परसन थाना के अरगाली में औलियाबाबा खिजरशाह मजार के पास लगने वाले दो दिवसीय वार्षिक मेला स्थल पर आय व्यय को लेकर तीन वर्षो से गांव के अनवर शाह एवं अकबर शाह के बीच विवाद चल रहा है। इस विवाद को लेकर परसन थाना में धनवार के सीओ शशिकांत सिकर, परसन ओपी प्रभारी रामाशंकर उपाध्याय एवं गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में दोनों की आपसी सहमति तथा निर्णय के लिए शनिवार को बैठक की गई। एक पक्ष का आरोप है कि यहां मजार के लिए हुए तरह तरह के चंदे चढ़ावा का हिसाब किताब वर्तमान सदर अकबर शाह नहीं देकर मनमानी करते हैं। वहीं दूसरे का आरोप है कि तीन साल पूर्व यहां के सदर अनवर शाह थे। उस समय भी उन्होंने काफी मनमानी की थी जिस वजह से मेला समिति दो गुटों में बंट गई थी। इसे लेकर मनमुटाव होता गया। इस मजार से काफी आय होने की बात बताई जाती है। वहीं निर्णय को लेकर की गई बैठक में दोनों गुटों की ओर से एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगने लगा। घंटों बहसा बहसी के बाद भी कोई निर्णय नहीं हो पाया। एक पक्ष का कहना था कि यहां की आय से विकास कार्य किया जा रहा है तो वहीं दूसरे पक्ष के लोग यह भी दावा कर रहे थे कि मजार उनकी खतियानी जमीन पर है। ऐसे में मजार की आय का हक उसे मिलना चाहिए। इसपर अंत में दोनों से कहा गया कि इन साल पुरानी समिति की देखरेख में मजार के पास मेला संपन्न कराया जाय तथा मेला की समाप्ति के बाद दोनों पक्ष आपस में बैठकर आपसी राय से नई समिति का गठन सौहार्द पूर्ण रूप से कर अगले साल मेला का आयोजन करें। इस पर दोनों इस बात को स्वीकार कर चले गए।

बैठक में मंजूर शाह, मो. शहजाद, शालिम शाह, जाहिद आलम, वजीर आलम, मो. इजहार शाह, सोनू शाह, कौशर शाह आदि लोग शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस