संवाद सहयोगी, गढ़वा : भारत रत्न डा. भीमराव अंबेडकर के 130 वी जयंती के पूर्व संध्या डा. भीमराव अंबेडकर क्लब हरहे रमकंडा के तत्वावधान में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें डा. अंबेडर के जीवन पर लोगों ने विस्तृत रूप से प्रकाश डाला तथा उनके जीवन से प्रेरणा लेने का आहवान किया।.कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित अनुसूचित जाति जनजाति कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सह बामसेफ के स्टेट कोऑर्डिनेटर रघुराई राम व बहुजन समाज पार्टी के गढ़वा विधानसभा क्षेत्र प्रभारी वीरेंद्र साव ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर किया।. समारोह को संबोधित करते हुए रघुराई राम ने कहा कि डा. अंबेडकर के जीवन और संघर्षों से प्रेरणा लेने की जरूरत है। उनके बताए मार्ग पर चलकर हम उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दे सकते हैं। डा. आंबेडकर ने भारतीय संविधान के माध्यम से देश में लोकतांत्रिक व्यवस्था कायम की एवं समतामूलक समाज निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया।. बसपा नेता वीरेंद्र साव ने कहा कि डा. अंबेडकर ने भारतीय संविधान में आर्टिकल 340 की व्यवस्था कर पिछड़े वर्ग के लोगों के हितों की रक्षा के प्रावधान किए। इसके माध्यम से ऐसी व्यवस्था बनाई गई कि समय समय पर भारत के राष्ट्रपति देश में सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े हुए लोगों को सर्वेक्षण कराकर उनके लिए आरक्षण का प्रबंध करेंगे। इसी के तहत काका कालेलकर आयोग और मंडल आयोग का गठन किया गया। मंडल आयोग की सिफारिश पर देश में पिछड़े वर्ग के लोगों को आरक्षण मिला। यह डा. अंबेडकर की देन है। मौके पर श्रवण कमलापुरी, सुरेंद्र राम, क्लब के अध्यक्ष मोहन कुमार रवि, संजय कुमार गौतम, संतोष प्रसाद कमलापुरी, सुरेंद्र राम, महेंद्र कुमार ,सुरेंद्र राम ,मोहन कुमार रवि, उमेश राम, जमींदार सिंह आदि उपस्थित थे। मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें कलाकारों ने डा. अंबेडकर के जीवन और संघर्षों को आत्मसात करने के लिए लोगों को प्रेरित किया।

-------------------

साइमन मरांडी के निधन पर झामुमो ने आयोजित की शोकसभा

संवाद सहयोगी, गढ़वा : साइमन मरांडी के निधन पर मंगलवार को झामुमो कार्यालय में शोकसभा का आयोजन कयिा गया। इसमें दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। झामुमो जिलाध्यक्ष तनवीर आलम खान ने कहा कि साइमन मरांडी •ामीनी स्तर के आंदोलनकारी नेता थे। जिन्होंने झारखंड की लड़ाई में अपना अहम योगदान दिया था। आजीवन उन्होंने जल,जंगल,जमीन की लड़ाई को जारी रखा। वह पार्टी सुप्रीमो दिशोम गुरू शिबू सोरेन के काफी करीबी थे तथा पार्टी के प्रमुख नेताओं में गिने जाते थे। जिला सचिव मनोज ठाकुर ने कहा कि साइमन मरांडी ने झारखंड आंदोलन में अपनी अलग पहचान बनाई थी। वह लंबे समय तक जनता का प्रतिनिधित्व करते हुए दो बार गोड्डा के सांसद तथा विधानसभाध्यक्ष भी रहे। उनके निधन से पार्टी को अपूर्णीय क्षति हुई है। शोक सभा में धीरेंद्र चौबे, जिला प्रवक्ता धीरज दुबे, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष अंजली गुप्ता, उपाध्यक्ष विकास कुशवाहा, नुरूल अंसारी, आलम आरा, फुजैल अहमद, तहजीब खान, जफर खं, रमेश, मिनहा, वीरेंद्र तिवारी, नीलू सिद्दीकी, सूरज चंद्रवंशी, अजय ठाकुर, आरफ अहमद, साजिद खान, बैजू राम, आलम खां, उमेश पाल, राजेंद्र गुप्ता, अनुज शर्मा, वीरेंद्र यादव निरंजन सिंह, शीला तिवारी, रीता देवी, अल्पसंख्यक मोर्चा के आलमगीर आलम आदि उपस्थित थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप