दीपक सिंह हरिहरपुर ( गढ़वा ) : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का काफी तेजी से संक्रमण फैलने पर आमजनजीवन बेहाल है । सरकार के सभी तंत्र इस वायरस को फैलने से रोकने हेतु सभी से अपील किया जा रहा है। ऐसे में ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधा का अभाव होने से सभी लोगों का जीवन भगवान भरोसे चल रहा है । यह हाल हरिहरपुर पंचायत के रपुरा गांव के आदिवासी बहुल्य टोला लुक्का का है । इस लुक्का टोले पर चालीस घरों में आदिवासी परिवार निवास करते है । टोले पर स्वास्थ्य सुविधा के नाम स्वास्थ्य विभाग की ओर से एक दशक पहले उपस्वास्थ्य केंद्र का भवन बना था । भवन का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद स्वास्थ्य विभाग गढ़वा की ओर से केंद्र का संचालन करने हेतु एएनएम मीना कुमारी का पदस्थापना की गई थी। एएनएम मीना द्वारा केंद्र का संचालन प्रारंभ हुआ । पर कुछ ही वर्षों के बाद स्वास्थ्य विभाग ने एएनएम मीना की पदस्थापन अन्यत्र जगहों पर कर दिया गया । तभी से यह केंद्र मे ताला लटक गया है । केंद्र मे ताला लटकने से इस टोले के आदिवासियों सहित अगल बगल के गांव रपुरा ,केवाल , कवलदाग, असनाखाड़ , नवडीहवा , के ग्रामीण स्वास्थ्य सुविधा से पूरी तरह से बंचित हो गए है । जबकि केंद्र का संचालन जब हो रहा था । तब इस क्षेत्र के लोगो को विभिन्न तरह की बीमारियों से निजात मिलता था, लेकिन वर्तमान दौर मे किसी तरह की बीमारी होने पर झोलाछाप डॉक्टर भी इस टोले पर आने से परहे•ा कर रहे हैं । जिसके परिणाम स्वरूप गर्भवती महिला , बच्चे , असमर्थ व्यक्ति , उचित इलाज से वंचित रहने से कोरोना महामारी के दौर मे बाहर के शहरों मे पहुंचकर इलाज कराने को मजबूर है । जिसका खामियाजा इस टोले के गरीब गुरूबा आदिवासियो को भुगतना पड़ रहा है । यह टोला पहाड़ी से सटे बसे होने के कारण स्वास्थ्य विभाग के कर्मी दूज के चांद बने रहते है । स्वास्थ्य विभाग के द्वारा चलाए जाने वाले नौनिहाल बच्चों का टीकाकरण , गर्भवती महिलाओं का देखरेख , प्रसव की सुविधा , आदि से पूर्णत: वंचित है । साथ ही यह केंद्र खंडहर के रुप मे बन गया है । केंद्र का गेट बंद रहने से केंद्र के अंदर झाडियों का अंबार लगा हुआ है । ग्रामीण फूलकुमारी देवी, बिमलावती देवी , सरिता देवी ,मधेसर सिंह , बिमलेश सिंह श्रवण सिंह , उमेश सिंह ने जिला प्रशासन से केंद्र को चालू कराने की मांग की है।

------------

पक्ष लुक्का स्वास्थ्य उपकेंद्र पर एएनएम सुजाता तिग्गा का पदस्थापन कर दिया गया है । केंद्र नहीं खुलने की स्थिति मे एएनएम से स्पष्टीकरण लिया जाएगा ।

दिनेश सिंह, चिकित्सा प्रभारी भवनाथपुर