भवनाथपुर :

किसानों की आय दोगुनी करने के उद्देश्य से प्रखंड कार्यालय परिसर में लगाए गए कृषि चौपाल में तीसरे दिन किसानों के नहीं पहुंचने से कुर्सी खाली पड़ी रही। प्रखंड कार्यालय में अन्य काम से आए ग्रामीणों को बुलाकर उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर कराया जा रहा था। ग्रामीणों को यह भी नहीं पता था कि उनसे हस्ताक्षर क्यों कराया जा रहा है। किसानों को चौपाल में नही पहुंचने का मूल कारण प्रचार प्रसार का अभाव बताया जा रहा है। इस दौरान पदाधिकारियों ने किसानों को बताया कि गव्य विकास से किसानों को दो गाय पर 90 प्रतिशत और पांच गाय पर 35 प्रतिशत अनुदान पर दिया जा रहा है । अब तक 40 लोगों ने आवेदन किया है । कृषि सहकारिता विभाग की ओर से किसानों को नवीन धान का बीज 50 प्रतिशत अनुदान पर 540 रुपए प्रति बैग दिया जा रहा है। जिन किसानों को मनरेगा से कूप मिला है उन्हें 90 प्रतिशत अनुदान पर पंप देना है। बताते चले कि चौपाल की उपस्थिति पंजी में पहले दिन 186 किसान, दूसरे दिन 80 किसान ओर तीसरे दिन मात्र 23 लोगो की उपस्थिति दिखाई गई है। सरकार द्वारा किसानों की आय दुगुनी करने का प्रायोजन प्रचार प्रसार के अभाव में धरा का धरा रह गया ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस