कांडी: प्रखंड प्रमुख नीतू पांडेय व उनके प्रतिनिधि ¨पकु पांडेय ने सोमवार को अपने आवास पर प्रेस वार्ता की। इस दौरान प्रमुख ने कहा कि बालू लदे ओवरलोड वाहनों के परिचालन बंद हो जाने से प्रखंड की जनता खुश हैं। पंसा बालू घाट से अवैध बालू सुंडीपुर होते हुए यूपी ले जाने के विरूद्ध मैं और मेरे पति ने जिला खनन पदाधिकारी को 24 मई को ही आवेदन देकर सूचना दी थी। किन्तु दुर्भावना से ग्रसित होकर मेरे पति पर ही अवैध बालू उत्खनन में संलिप्तता दिखाकर एफआईआर दर्ज कराया गया है। इससे पूर्व जब पंसा बालू घाट से सुंडीपुर होते हुए ओवरलोड ट्रक को कसनप गांव के ग्रामीणों ने रोका। वहां भी मौके पर उपस्थित पुलिस मेरे पति को फर्जी केस में फंसाने का धमकी दे रही थी। लगातार बालू उत्खनन से जल संकट गहरा रहा है। सोन व कोयल नदी किनारे बसे कई गांवों के दर्जनों हैंडपंप सूख गए हैं। सुंडीपुर-मझिआंव मुख्य सड़क भी कई जगह ध्वस्त हो गई । खरसोता-कसनप मुख्य सड़क पर स्थित नारायणपुर में पुल भी ध्वस्त हो गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस