गढ़वा: ग्राम विकास समिति का चुनाव संपन्न कराना प्रशासनिक महकमा के लिए चुनौती साबित हो रहा है। क्योंकि पंचायत के मुखिया का सहयोग चुनाव कराने में प्रशासनिक महकमे को नहीं मिल पा रही है। बुधवार को सदर प्रखंड के आदर्श पंचायत मधेया के मधेया, हरैया व झूरा में ग्राम विकास समिति के गठन को लेकर ग्रामसभा का आयोजन किया गया था। पूर्व की बैठकों में हंगामा व तनाव को देखते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी जागो महतो ने थाना प्रभारी को ग्रामसभा के दौरान सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराने को कहा था। लेकिन बुधवार को आहूत ग्रामसभा में चुनाव के दौरान जब दो पक्षों में जमकर मारपीट हो गई, तब पुलिस वहां पहुंची। नतीजा रहा कि उक्त तीनों ही जगहों पर एक बार फिर से ग्राम विकास समिति के चुनाव के निर्णय को सुरक्षित रखा गया है। जानकारी के अनुसार हैरया के बाबू टोला में आयोजित बैठक में ग्राम विकास समिति का अध्यक्ष पद का चुनाव संपन्न हो गया। लेकिन सचिव पद को लेकर वहां मौजूद ग्रामीण दो गुट में बंट गये। वहां मौजूद पर्यवेक्षक कनीय अभियंता आनंद कुमार समझ पाते तब तक दोनों पक्ष में लाठी-डंडे से एक दूसरे पर प्रहार शुरू कर दिया गया। इस घटना में दर्जनभर लोगों को चोट लगी। जानकारी के अनुसार जिन लोगो को चोटें लगी हैं उनका इलाज निजी क्लिनिक में कराया जा रहा है। इस घटना को लेकर दोनों ही पक्ष के लोग थाना पहुंचकर एक-दूसरे के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने की तैयारी में थे। इसी प्रकार झूरा में आयोजित बैठक में अध्यक्ष व सचिव पद पर सर्वसम्मति से चुनाव करा लिया गया। लेकिन कोषाध्यक्ष पद को लेकर यहां भी पेंच फंस गया तथा उपस्थित ग्रामीणों के बीच नोकझोंक होने लगी। मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों को शांत कराया।

पक्ष

आदर्श पंचायत की आदर्श जनता से इस प्रकार की घटना की हमें उम्मीद नहीं थी। पूर्व के अनुभव को देखते हुए पुलिस बल की मांग की गई थी। पुलिस कुछ देर से पहुंची तब तक ग्रामीण आपस में झगड़ा कर चुके थे।

जागो महतो, प्रखंड विकास पदाधिकारी, गढ़वा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस