बासुकीनाथ : जरमुंडी थानान्तर्गत बोगली गांव में मंगलवार को बच्चा चोरी के आरोप में पकड़ा गया एक युवक मॉब ली¨चग का शिकार बनते-बनते बच गया। दरअसल मामले की सूचना मिलते ही एसडीपीओ अनिमेष नथानी एवं जरमुंडी इंस्पेक्टर विष्णुदेव चौधरी ने त्वरित पहल करते हुए तुरंत पुलिस पदाधिकारी व भारी संख्या में पुलिस बल को घटनास्थल के लिए रवाना किया। सही समय पर मौके पर पहुंची जरमुंडी थाना कि पुलिस ने घायल युवक को भीड़ से बचाकर इलाज के लिए जरमुंडी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। यहां डॉ. दीनबंधु रक्षित ने घायल युवक का उपचार किया। मॉब ली¨चग से बचा घायल युवक बिहार के बांका जिला अंतर्गत कोठान गांव निवासी सोनू यादव (35 वर्ष) है जिसके पिता का नाम सीताराम यादव बताया जाता है। जरमुंडी थाना के एएसआइ राजकुमार ¨सह ने बताया कि बच्चा चोरी करने का आरोपी युवक सोनू बोगली गांव के बहियार में शौच के लिए गया था। उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं रहने से एक बच्ची से उसका नाम पूछ रहा था। इसी क्रम में कुछ ग्रामीणों द्वारा से गलतफहमी से बच्चा चोरी करने का हल्ला किया गया। जिससे स्थानीय लोग युवक को पकड़कर पीटने लगे।

Posted By: Jagran