रामगढ़ : वित्तीय वर्ष 2019-20 में राज्य सरकार की प्रस्तावित योजना मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के कार्यान्वयन के लिए 18 जनवरी को प्रखंड के सभी राजस्व गांव में ग्राम स्तर पर ग्रामसभा का आयोजन कर रैयत समन्वय समिति का गठन किया जाएगा। इसके लिए अंचलाधिकारी रामा रविदास ने अपने स्तर से ग्राम सभा का पर्यवेक्षण के लिए सभी गांव में पर्यवेक्षक की नियुक्ति की है। इसके लिए 67 पर्यवेक्षक की नियुक्ति की गई है। जिसमें सभी राजस्व कर्मचारी, पंचायत सेवक, सीआरपी, बीआरपी, महिला पर्यवेक्षिका, कनीय अभियंता, तथा चौकीदार शामिल हैं। इस योजना के तहत कृषकों को खरीफ मौसम के लिए प्रतिवर्ष प्रति एकड़ पांच हजार रुपया डीबीटी के माध्यम से भुगतान किया जाएगा। उन्होंने सभी पर्यवेक्षक को 18 जनवरी की शाम को ही ग्राम स्तर पर गठित होनेवाली रैयत समन्वय समिति की रिपोर्ट जमा करने का निर्देश दिया है।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran