-मुफस्सिल थाना की पुलिस ने रामगढ़ से तीनों को उठाया

-पुलिस को देखते ही भागने लगा था संतोष, थाने ले जाकर कर रही पूछताछ

संवाद सहयोगी, रामगढ़(दुमका) : मुफस्सिल थाना की पुलिस ने साइबर अपराध में शनिवार की शाम रामगढ़ के कड़बिधा निवासी दो भाई समेत तीन लोगों को हिरासत में लिया है। जिसमें रोहित मंडल, संतोष मंडल सगा भाई है। वहीं सुसनियां गांव के अशोक भंडारी भी शामिल है। तीनों से पुलिस पूछताछ कर रही है।

दरअसल कुछ दिन पहले एनसीसी के हवलदार राजकुमार के बैंक खाते से करीब एक लाख रुपये की साइबर ठगी हुई थी। जिस मोबाइल से राजकुमार को बैंक अधिकारी के नाम पर चूना लगाया गया था। उसे संतोष मंडल चला रहा था। मोबाइल लोकेशन के आधार पर शनिवार की शाम मुफस्सिल थाना प्रभारी नवल किशोर सिंह ने रामगढ़ थाना प्रभारी राजीव प्रकाश की मदद से कड़बिधा गांव में रोहित मंडल के घर छापेमारी की। इस दौरान पुलिस ने रोहित के घर से कई एटीएम, बैंक खाता समेत नगदी रुपये भी बरामद किया। वहीं गिरफ्तार रोहित की निशानदेही पर उसके भाई संतोष मंडल को गिरफ्तार किया। वह शनिवार को सुसनियां निवासी अशोक भंडारी के यहां काम करने गया था। जहां से अशोक की बाइक पर सवार होकर दोनों सामान खरीदने दुमका जा रहा था। पुलिस संतोष के मोबाइल लोकेशन के आधार अशोक व संतोष को श्रीअमड़ा के पास बने पुलिस चेकनाका पहुंचने पर पुलिस ने अशोक की बाइक को रोककर चाबी निकाल ली। इसे पहले कि अशोक कुछ समझ पाता संतोष बाइक से उतर कर दौड़ने लगा। काफी दूर तक पुलिस ने उसका पीछा कर उसे धर दबोचा। बाद में तीनों को थाना लाकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

वर्जन

मुझे पूरे मामले की जानकारी नहीं है। मामला मुफसिल थाने से जुड़ा है। मुफस्सिल थाना प्रभारी ने उनसे संतोष के घर पर छापेमारी की मदद मांगी थी। मुफस्सिल थाना प्रभारी का कहना है कि हवलदार के खाते से निकासी के संबंध में तीन को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

राजीव प्रकाश, रामगढ़ थाना प्रभारी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस