दुमका : मैडम घरवालों की मर्जी से शादी तय हुई थी, तय होने के बाद होनेवाला पति रोज फोन पर बात करता था और मैसेज भी भेजता था। अब शादी से इंकार कर दूसरी युवती से सगाई कर ली है। अब मेरा क्या होगा। आप ही उसके परिवारवालों को समझाइए।

यह बात रविवार को महिला थाना में कोषांग की सुनवाई के दौरान शहर के तेलीपाड़ा की एक युवती ने कही। कहा कि शादी तय होने के बाद सब ठीक था लेकिन अचानक होनेवाले पति के परिजनों ने दहेज की मांग कर दी। पिता दहेज देने में सक्षम नहीं थे, इसलिए शादी से इंकार कर दिया। देवघर निवासी लड़के के पिता ने दहेज मांगने की बात से साफ इंकार किया और बताया कि बेटा ही शादी नहीं करना चाहता है। जबरदस्ती नहीं कर सकते। पीड़िता की बात सुनने के बाद थाना प्रभारी वृंदावन सरदार ने कहा कि कोषांग में केवल दंपती से जुड़े मामलों की सुनवाई होती है। वह चाहे तो न्यायालय या फिर संबंधित थाना में शिकायत कर सकती हैं। सुनवाई में 32 मामलों को रखा गया लेकिन पांच में ही समझौता हो सका। दूसरे पक्ष के नहीं आने के कारण बाकी मामले की सुनवाई फिर की जाएगी। सुनवाई करने वालों में मनोज घोष, किरण तिवारी, वीणा सिंह, कर्मेला केरकेटटा, श्वेता कुमारी, राजेश राय, शैलेंद्र सिन्हा, राम वचन व पमैली मड़ेया शामिल थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप