साइबर अपराधियों ने शनिवार को मसलिया के उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय पोचांपानी के प्रभारी प्रधानाध्यापक सुभाष चंद्र सिंह को झांसे में लेकर महज 30 मिनट के अंदर उनके खाते से 2.59 लाख रुपये की अवैध निकास कर ली। अपराधियों ने ऋण पर ली गई बाइक की किस्त जमा करने के बाद उसका रुपये वापस करने के नाम पर ठगी का शिकार बनाया। शिक्षक ने नगर थाना की पुलिस को इसकी जानकारी दी, लेकिन पुलिस ने मसलिया थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए भेज दिया।

नगर थाना क्षेत्र के रघुनाथपुर करूवा निवासी शिक्षक ने बताया कि एक साल पहले टीवीएस शोरूम से एक लाख की बाइक लोन पर ली थी। किस्त के नाम पर 18 से 20 हजार रुपये जमा किया। दोपहर करीब ढाई बजे टीवीएस कंपनी से उनके मोबाइल पर फोन आया। फोन करने वाले ने कहा कि उन्होंने अभी तक किस्त के रूप में जो रुपये जमा किया है, वह नए नियम के तहत वापस किए जा रहे है। यदि पैसा चाहते हैं तो योनो एप में जाकर यूजर नेम और पासवर्ड डालिए। साइबर अपराधी करीब 30 मिनट में बात करते हुए शिक्षक से हर जानकारी लोड करवाते रहे। सारी जानकारी देने के बाद उनके मोबाइल पर पहला मैसेज आया कि उनके खाते से एक लाख की निकासी की गई है। इसके बाद चार बार इस तरह का संदेश आने के बाद शिक्षक को पता चला कि उनके खाते से 2.59 लाख रुपये निकल गया है और अब मात्र 58 रुपये ही बचे हैं। शिक्षक ने बताया कि उनका मसलिया की एसबीआइ शाखा में खाता है। खाते से निकासी होने के बाद सीधे नगर थाना प्रभारी देवव्रत पोद्दार से मिले और ठगी की कहानी सुनाई। थाना प्रभारी ने सलाह दी कि इसकी प्राथमिकी मसलिया थाने में होगी। बाद में शिक्षक मसलिया के लिए निकल गए।

Edited By: Jagran