सिदो-कान्हु मुर्मू विश्वविद्यालय के मिनी कांफ्रेंस हाल में गुरुवार को विश्वविद्यालय-महाविद्यालय सेवानिवृत्त कर्मचारी संघ का मिलन समारोह हुआ। इस मौके पर सेवानिवृत्त शिक्षकों ने कोविड-19 संक्रमण काल में मृत कर्मचारियों के आत्मा की शांति के लिए दो मिनट मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय एवं कई कालेजों सेवानिवृत्त शिक्षकों ने भाग लिया और हो रही समस्याओं को साझा किया।

विश्वविद्यालय-महाविद्यालय सेवानिवृत्त कर्मचारी संघ के पूर्व अध्यक्ष प्रो. मुरलीधर उपाध्याय ने कहा कि सारे सेवानिवृत्त कर्मियों को पेंशन का भुगतान नहीं किया गया है। सभी सेवानिवृत्त शिक्षकों को ग्रेड पे, ग्रुप इंश्योरेंस एवं वेलफेयर फंड का पैसा अभी तक भुगतान विश्वविद्यालय द्वारा नहीं किया गया है। कहा छह से आठ महीने बीत गए लेकिन विश्वविद्यालय प्रबंधन उनकी मांगों को अनसुना कर रही है। पारिवारिक पेंशनरों को भी पेंशन नहीं मिल रहा है। कहा कि बहुत सारे शिक्षक जो सेवानिवृत्त हो गए हैं उन्हें चतुर्थ वेतन मांग से वंचित रखा गया है। विश्वविद्यालय के सेवानिवृत्त शिक्षकों व कर्मचारियों की सुनने वाला कोई नहीं है। कहा कि कोई भी सरकार हमारी वेतनमान की चर्चा नहीं करती है और न ही हमलोगों के किसी भी मांग पर ध्यान देती है। विश्वविद्यालय महाविद्यालय के सेवानिवृत्त शिक्षकों की घोर उपेक्षा हो रही है। कहा कि इन सारी समस्याओं के लेकर सिदो कान्हु मुर्मू विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. सोनाझरिया मिज एवं विश्वविद्यालय के कुलसचिव के समक्ष मसला रखा जाएगा। अगर इसके बाद भी कोई पहल नहीं होती है तो आंदोलनात्मक कदम उठाया जाएगा। मौके पर बड़ी संख्या में सेवानिवृत्त शिक्षक बड़ी संख्या में मौजूद थे।

Edited By: Jagran