नगर थाना क्षेत्र के टीन बाजार के शातिर सुमित केसरी ने शुक्रवार रात मोमोज नहीं देने पर धर्मस्थान रोड स्थित मोमोमियां रेस्टोरेंट में तोड़फोड़ की और संचालक की बहन के साथ गलत व्यवहार किया। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर शनिवार को जेल भेज दिया। सुमित इससे पहले भी चार बार मारपीट और रंगदारी के मामले में जेल जा चुका है।

नगर थाना में रेस्टोरेंट के संचालक अभिजीत रक्षित ने बताया कि देर शाम आठ बजे बिक्री बंद कर हिसाब किताब कर रहा था। करीब साढ़े नौ बजे सुमित आया और मोमो की मांग की। जब उसे बताया कि अब दुकान बंद हो रही है, अब मोमो देना संभव नहीं है। इस वह भड़क गया और कहा कि इतनी रात को दुकान क्यों खुली है। दीदी का हाथ पकड़कर पीटने लगा। कहा कि अगर दो हजार रुपये रंगदारी नहीं दी तो सारा सामान बर्बाद कर देगा। रेस्टोरेंट के बाहर खड़े उसके तीन साथी ने रोकने का प्रयास किया तो वह और भड़क गया। उसने ईंट चलाकर कई सामान तोड़ डाला। शोर मचाने पर वह भाग निकला। सूचना मिलने पर नगर थाना की पुलिस मौके पर पहुंची और दबिश देकर सुमित को धर दबोचा। थाना प्रभारी देवव्रत पोद्दार ने बताया कि सुमित पहले भी करीब चार बार इसी तरह की वारदात में जेल जा चुका है। इस बार मारपीट व रंगदारी के अलावा छेड़खानी का भी मामला दर्ज किया गया है। युवती को बदनाम करने वाले को जेल भेजा: मुफस्सिल थाना की पुलिस ने युवती का गांव में पोस्टर लगाकर बदनाम करने वाले दो मुहानी गांव के जाकिर अंसारी को गिरफ्तार कर शनिवार को जेल भेज दिया। थाना प्रभारी उमेश राम ने बताया कि आरोपित के खिलाफ चार जनवरी को युवती के पिता ने मामला दर्ज कराया था। आरोप लगाया कि जाकिर उनकी बेटी से शादी करना चाहता था, लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं थी। बेटी को बदनाम करने के लिए गांव में उसकी तस्वीर का पोस्टर लगा दिया था। जाकिर की गिरफ्तारी के लिए कई बार प्रयास किया, लेकिन हाथ नहीं आया। शनिवार को उसे बस स्टैंड के समीप से पकड़ लिया गया।

Edited By: Jagran