फेडरेशन आफ उप राजधानी चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज की ओर से शनिवार को दुमका रेलवे स्टेशन पर पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक अरुण अरोड़ा को 20 सूत्री मांग पत्र सौंप कर समुचित पहल करने की मांग की। फेडरेशन के अंजनी शरण ने कहा कि

दुमका झारखंड की उप राजधानी है। इस लिहाज से इसकी अहमियत काफी ज्यादा, लेकिन दुर्भाग्यवश दुमका उपेक्षा का शिकार हो रहा है। रेल सेवा से जुड़ने के बाद दुमकावासियों को उम्मीद थी कि अब उनके दुखों का अंत होने वाला है लेकिन स्थिति जस की तस है। गिनी-चुनी लोकल ट्रेन के अलावा इक्का-दुक्का ट्रेन कोलकाता व रांची के लिए है। जबकि, दुमका के लोगों को उम्मीद थी कि पटना, दिल्ली समेत अन्य महानगरों को जोड़ने वाली ट्रेन यहां से होकर गुजरेगी। दुमका के बाद गोड्डा में प्रारंभ हुए रेल सेवा ज्यादा बेहतर है। वहां से दिल्ली समेत कई शहरों के लिए रेल सेवाएं प्रारंभ हो गई है। इसलिए यह जरूरी है कि इस मामले में दुमका पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए। इस मौके पर अध्यक्ष शरीफ, मीडिया प्रभारी सूरज केशरी एवं अभिजीत बागची मौजूद थे।

-----------------

यह हैं फेडरेशन की मांगें

-------------

- जसीडीह से लंबी दूरी के चल रही ट्रेनों को दुमका से चलाया जाए।

- गोड्डा से दिल्ली की हमसफर एक्सप्रेस दुमका से चलाई जाए।

- दिल्ली के लिए मधुपुर से चलाई जा रही ट्रेन दुमका से चलाई जाए।

- भागलपुर से जाने वाली हावड़ा की ट्रेन का परिचालन दुमका से हो

- भागलपुर से दिल्ली जाने वाली ट्रेन का परिचालन दुमका होकर किया जाए।

- चिकित्सीय कारणों से दक्षिण भारत जाने वाली ट्रेन जैसे बेंगलुरु अथवा चेन्नई के लिये साप्ताहिक ट्रेन का आवंटन किया जाए।

- दुमका रेलवे स्टेशन पर पार्किंग के लिए एक स्थाई स्टैंड बनाया जाए।

- स्टेशन पर हाकर्स के लिए सुविधाएं बहाल हो।

- प्लेटफार्म बदलने की स्थिति में दिव्यांगों के लिए बैटरी चालित गाड़ी की व्यवस्था होनी चाहिए।

- प्लेटफार्म पर रैंप की व्यवस्था होनी चाहिए।

--------------------

Edited By: Jagran