अवैध खनन और नाबालिग चालक की मेलजोल ने बुधवार दोपहर हादसा का सबब बन गया। जब, चोरी छिपे बालू को ले जा रहा नाबालिग चालक तेज रफ्तार ट्रैक्टर से नियंत्रण खो बैठा। कब्रिस्तान रोड पर वन विभाग के पास एक कार पर चढ़ गया। संयोग था कि कार चालक गेट खोलकर भाग निकला, जिससे वह सलामत है। मामले में नाबालिग चालक और ट्रैक्टर मालिक पर प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई करने के बजाय पुलिस समझौता कराने में लगी थी। खबर लिखे जाने तक खनन के गठजोड़ से थाने में सुलह का खेल चल रहा था।

शहर के डंगालपाड़ा स्थित मयुराक्षी नदी से दिन रात बालू का अवैध खनन चल रहा है, जिससे पुलिस और प्रशासन नजर मोड़े है। बालू की ढुलाई कर रहे वाहनों पर पुलिस नजर नहीं डालती है। इसका फायदा उठाकर बालू तस्कर नाबालिग चालक के हाथ ट्रैक्टर की स्टीयरिग सौंप दिए थे। दोपहर को शिकारीपाड़ा निवासी अब्दुल अंसारी कार से बंदरजोड़ी की ओर जा रहे थे। वन विभाग के पास ब्रेकर पर उन्होंने ब्रेक मारा। तभी पीछे से आ रहा नाबालिग अनाड़ी चालक ट्रैक्टर समेत उनकी कार पर चढ़ गया।

जब तक लोग कुछ समझ पाते तब तक ट्रैक्टर का चालक फरार हो गया। सूचना मिलने पर सहायक अवर निरीक्षक गंगाधर सिंह मौके पर पहुंचे और दोनों वाहन को कब्जे में लिया। शाम को ट्रैक्टर मालिक संतोष यादव व कार मालिक नगर थाना आए। फिर, समझौते का दौर चलता रहा। ट्रैक्टर मालिक कार की मरम्मत के लिए खर्च होना पैसा देने के लिए भी तैयार हो गया, लेकिन देर शाम तक कोई हल नहीं निकला।

Edited By: Jagran