रामगढ़ : रामगढ़ प्रखंड के विभिन्न इलाकों में अनाबद्ध निधि से बनाया जा रहा पुलिया में घटिया व लोकल पत्थर का धड़ल्ले से इस्तेमाल किया जा रहा है। पुलिया निर्माण में भी ठेकेदार द्वारा अनियमितता बरती जा रही है। ठेकेदार द्वारा कार्यस्थल पर अभी तक सूचना पट भी नहीं लगाया गया है। जानकारी के अनुसार रामगढ़ प्रखंड के छोटी रणबहियार पंचायत अंतर्गत छोटी रणबहियार एवं आलूवाड़ा के बीच जोरिया में जिला अनाबद्ध निधि से ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल द्वारा लगभग 36 लाख रुपये की लागत से पुलिया का निर्माण करवाया जा रहा है। इस योजना को पूर्ण करने की जिम्मेदारी रामगढ़ के ठेकेदार राजेश कुमार गुप्ता को दिया गया है। अभी तक कार्य स्थल पर प्राकलन से संबंधित कोई सूचना पट नहीं लगाया गया है। वहीं पुलिया निर्माण में घटिया पत्थर का धड़ल्ले से प्रयोग कर रहे हैं। वहीं ठेकेदार द्वारा पुलिया निर्माण में स्थानीय जोरिया का बालू लगाया जा रहा है। ठेकेदार द्वारा छोटी रणबहियार गांव के कुछ दबंग व्यक्ति को अपने साथ मिला लिया है जिसके कारण छोटी रणबहियार गांव के ग्रामीण घटिया पुलिया निर्माण की शिकायत नहीं कर पा रहे हैं। वहीं इस मामला के विभाग के कनीय अभियंता मिथलेश कुमार ने कहा कि ठेकेदार को स्थानीय पत्थर को पुलिया निर्माण में लगाने के लिए मना किया गया है। इसके बाद भी यदि ठेकेदार स्थानीय पत्थर का उपयोग करते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इधर पिडरगड़िया में भी इसी विभाग द्वारा किए जा रहा पुलिया निर्माण में भी ठेकेदार द्वारा स्थानीय लोकल पत्थर का उपयोग धड़ल्ले से किया जा रहा है। सूत्रों पर भरोसा करें तो विभाग के काई भी अधिकारी योजना का निरीक्षण नहीं करते हैं जिसके कारण ठेकेदार अपनी मर्जी से कार्य कर रहे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप