जागरण संवाददाता, दुमका: धनबाद के डिप्टी मेयर नीरज सिंह की हत्या की साजिश रचने के आरोप में न्यायिक हिरासत में रखे गए झरिया के पूर्व विधायक संजीव सिंह रविवार को धनबाद से दुमका जेल भेज दिए गए। वे अप्रैल 17 से धनबाद जेल में है। कड़ी सुरक्षा के बीच धनबाद से दुमका ले जाने के दौरान संजीव सिंह के समर्थक भी तीन दर्जन गाड़ियों में सवार होकर साथ गए। दोपहर तीन बजे संजीव सिंह की गाड़ी दुमका जेल परिसर के भीतर प्रवेश की। जेल के भीतर आने के बाद संजीव ने इशारा के जरिए समर्थकों का आभार जताया। तुरंत दूसरा द्वार खोल अंदर चले गए। स्वास्थ्य जांच के बाद संजीव सिंह को सुरक्षित अलग वार्ड में रखा गया है।

-------------------------

बिना अनुमति दो दर्जन समर्थक जेल के भीतर घुस गए

पूर्व विधायक संजीव सिंह की गाड़ी को भीतर ले जाने के लिए मुख्य द्वार खोला गया तभी दो दर्जन समर्थक बिना अनुमति के ही जेल परिसर में घुस गए। तैनात एक जवान ने गेट बंद करने की कोशिश की लेकिन समर्थक गेट को धकेलते हुए अंदर चले गए। करीब आधा घंटे के बाद सभी समर्थक बाहर निकले। पूर्व विधायक के जेल में प्रवेश करने के बाद विधायक के दो करीबी दो बड़े बैग और दो झोला में आवश्यक सामान लेकर पहुंचे। जेल के मुख्य द्वार से ही दोनों को अंदर जाने दिया गया। बैग में संजीव सिंह के कपड़े के अलावा खानपान के सामान आदी था।

-------------------------

चचेरे भाई की हत्या के मुकदमे को झेल रहे पूर्व विधायक

पूर्व विधायक संजीव सिंह अपने चचेरे भाई नीरज सिंह की हत्या की साजिश रचने के मुकदमे को झेल रहे हैं। नीरज सिंह धनबाद नगर निगम के डिप्टी मेयर थे। 21 मार्च 2017 को नीरज सिंह समेत पांच लोगों की 21 मार्च 2017 की स्टील गेट के पास गोली मारकर हत्या की गई थी। अप्रैल 2017 में पूर्व विधायक को हत्याकांड की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तारी के समय वे झरिया से भाजपा के विधायक थे।

--------------------

दुमका जेल आने के बाद संजीव सिंह के स्वास्थ्य की जांच कराई गई। उन्हें आम कैदियों से अलग वार्ड में रखा जाएगा। अचानक शिफ्ट करने का आदेश आया था। इसलिए उनके रहने के वार्ड का निर्धारण नहीं हो सका है।

सत्येंद्र चौधरी, काराधीक्षक, केंद्रीय जेल, दुमका

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021