संवाद सहयोगी, बासुकीनाथ: जरमुंडी प्रखंड स्थित सूचना एवं तकनीकी केंद्र में कृषक मित्र की एक बैठक प्रखंड कृषि पदाधिकारी अक्षय कुमार की अध्यक्षता में हुई।

प्रखंड कृषि पदाधिकारी ने बताया कि धान अधिप्राप्ति योजना के तहत निबंधित किसान सहारा, जरमुंडी एवं नोनीहाट के लैंपस में धान बेच सकते हैं। धान का सरकार द्वारा समर्थन मूल्य बोनस सहित दो हजार रुपये प्रति क्विटल है। यदि किसान धान विक्रय करने के लिए अपना निबंधन कराना चाहते हैं तो संबंधित लैंपस से आवेदन पत्र लेकर पर्चा, आधार कार्ड एवं बचत खाता का छायाप्रति संलग्न कर राजस्व कर्मचारी एवं अंचल निरीक्षक से प्रतिहस्ताक्षर कराकर लैंपस में जमा कर दें। इस प्रकार उनका लैंपस में निबंधन हो जाएगा एवं निबंधित किसान के मोबाइल नंबर पर संदेश भी आएगा। जिससे किसान के निबंधित मोबाइल नंबर पर सूचना आ जाएगी कि किस तारीख को कितना धान बेचने के लिए लैंपस लेकर आना है। कृषि पदाधिकारी ने बताया कि मॉडल विलेज के रूप में जरमुंडी प्रखंड के पांच गांव चमराबहियार, नोनीगांव, मचला, भालकी, पेटसार का चयन किया गया है। जिसका कृषि योग्य भूमि 200 हेक्टेयर से अधिक है। जिसमें एक सौ एकड़ में प्रत्यक्ष कार्य होगा तथा एक सौ एकड़ में कमांड एरिया रहेगा। बैठक में मुख्य रूप से प्रखंड तकनीकी प्रबंधक समरेंद्र सिन्हा, सिगल विडो के कर्मचारी श्यामसुंदर मंडल, चा‌र्ल्स किस्कू, सुबोध यादव, लक्ष्मण कुमार, अशोक यादव, संतोकी राय, केदार मांझी सहित दर्जनों अन्य कृषक मित्र मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस