आनंदमार्गियों ने मनाई आनंदमूर्ति की 101 वीं जयंती

जागरण संवददाता, दुमका : ननकू कुरवा स्थित आनंद मार्ग स्कूल में सोमवार को बुध पूर्णिमा पर आनंद मार्ग के संस्थापक प्रभात रंजन सरकार उर्फ आनंदमूर्ति की 101 वी जयंती मनाई गई। नारायण सेवा के साथ साथ भजन कीर्तन का कार्यक्रम भी हुआ। मार्गी् शिव प्रसाद शर्मा, ऋषिकेश भंडारी, रत्नेश शर्मा, चंदन सिंह, मिहिर कुमार पाल, धीरज दास, रविंद्र शर्मा व अभिजीत शर्मा ने बताया कि शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक उन्नति के लिए वर्ष 1955 में स्थापित इस संस्था ने विश्व के 180 देशों में शाखाएं फैला रखी है। उद्देश्य व सिद्धांतों की वजह से आज लाखों अनुयायी हैं। उन्होंने कहा कि योग व तंत्र साधना के माध्यम से मनुष्य अपनी जड़ता को समाप्त कर मोक्ष का रास्ता तलाश सकता है। पूंजीवादी और समाजवादी विचारधारा से इतर प्रगतिशील उपयोग तत्व पंथ की स्थापना करने वाले प्रभात रंजन सरकार को 12 फ़रवरी 1973 को सोवियत रूस में गिरफ्तार कर लिया गया। अगस्त 1978 में सरकार ने रिहा किया।

Edited By: Jagran