दुमका : झारखंड आंदोलनकारी सेनानियों ने शुक्रवार को इंडोर स्टेडियम में छठा वाíषक सम्मेलन किया। सम्मेलन में मुख्यमंत्री को शामिल होना था लेकिन तय समय में लोगों के नहीं पहुंच पाने के कारण वे इसमें शिरकत नहीं कर सकें।

सम्मेलन की 42 शहीद की बेदी पर माल्यार्पण से हुई। सभी ने मृत आंदोलनकारियों के नाम पर एक साथ दो मिनट का मौन रखकर दिवंगत की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। सम्मेलन को संबोधित करते हुए केंद्रीय अध्यक्ष अशोक मुर्मू ने कहा कि मुख्यमंत्री ने आने के लिए जो समय दिया था, उस समय तक सेनानी नहीं पहुंच पाए, जिस वजह से मुख्यमंत्री चाहकर भी सम्मेलन में शामिल नहीं हो सके। अशोक ने कहा कि झारखंड आंदोलनकारी चिह्नितकरण आयोग को 49749 आवेदन दिए गए थे। जिसमें अभी तक 6841 आंदोलकारी की चिह्नित कया गया। आयोग का कार्यकाल इसी साल 08 अगस्त को समाप्त हो गया। जिस कारण 42809 आवेदन पर अभी फैसला आनी बाकी है। आयोग का कार्यकाल बढ़ाया जाए। सेनानी को भारत सरकार के अधिनियम 1952 के आधार पर स्वतंत्रता सेनानी की तर्ज पर सम्मानित राशि प्रदान की जाए। कटआफ डेट 15 नवंबर 2000 तय की जाए। जिलाध्यक्ष बाबूराम मुर्मू ने कहा कि आंदोलन के दौरान जो शहीद हुए हैं उनके परिवार के सदस्यों की जांच कर सरकार नौकरी दे। सेनानी को राज्य के बोर्ड निगम व जिला स्तरीय समिति में पदेन सदस्य बनाया जाए। जो भी चिह्नित व सम्मानित आंदोलनकारी जेल गए या नहीं गए, उन्हें समान रूप से सम्मानित राशि दी जाए।

सम्मेलन में प्रमंडल के अलावा गिरिडीह व हजारीबाग से भी आंदोलन कारी आए थे। मौके पर विकास चंद्र दास, मनभरण दास, दौलत महतो, दिलीप दत्त, परवेज रिजवी, विष्णु मंडल, रामजी भगत, मनोज पांडेय, सुप्रियो दास, कामदेव सोरेन, सोनालाल हेंब्रम आदि मौजूद थे।

---

नंदलाल बने केंद्रीय अध्यक्ष

सम्मेलम में सर्वसम्मति से नई केंद्रीय समिति का गठन किया गया। नंद सोरेन को केंद्रीय अध्यक्ष, सोने लाल हेंब्रम को उपाध्यक्ष, अशोक मुर्मू केंद्रीय महासचिव, दिलीप दत्त को संगठन सचिव, अरूण मंडल को कोषाध्यक्ष, विकास चंद्र दास को प्रवक्ता चुना गया। वहीं बाबूराम मुर्मू को दुमका, अनिल टुडू को देवघर, चुनूलाल सोरेन व महादेव किस्कू को जामताड़ा का जिलाध्यक्ष व सुप्रिय दास को जिला सचिव बनाया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस