जागरण संवाददाता, दुमका : प्लस टू राजकीय कन्या उच्च विद्यालय दुमका में प्रभारी प्राचार्या करुणा कुमारी के निर्देशन में स्वच्छता पखवारा के तहत बुधवार को स्वच्छ पेयजल दिवस मनाया गया। इस अवसर पर प्राचार्या ने कहा कि जल ही जीवन है। दिनोंदिन जल की समस्या बढ़ना ¨चता का विषय है। शुद्ध पेयजल की भारी कमी हो रही है। अगर हमलोग आज सचेत नहीं हुए तो सबका जीना मुहाल हो जाएगा और आने वाली पीढ़ी हमें माफ नहीं करेगी।

परीक्षा नियंत्रक डा.महेश कुमार ने कहा कि पानी में उपस्थित अशुद्धियां यथा कार्बोनेट बाइकार्बोनेट आर्सेनिक लौह की उपस्थिति जांच कर पेयजल का उपयोग करना चाहिए। कोशिश होनी चाहिए कि चापानल के पानी का उपयोग ही किया जाए। जल के भंडारण स्थान का समय-समय पर सफाई करनी चाहिए। डॉ. हेमकांत पंडित ने कहा कि बारिश का पानी बहकर नाला-नदी होते हुए अंतत: सागर में चली जाती है। इस पानी को रोकने का प्रयास करना चाहिए और फिल्टर कर इसे शुद्ध पेयजल के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि घर में भी साफ-सुथरे बर्तन में ढंक कर पानी रखना चाहिए ताकि उसकी शुद्धता बनी रहे। शुद्ध पानी का इस्तेमाल कर ही स्वस्थ रह सकते हैं। मौके पर विद्यालय के सभी शिक्षक, शिक्षिका, कर्मचारी एवं छात्राएं मौजूद थीं।

-------------

Posted By: Jagran