रामगढ़ : दैनिक जागरण एवं शिक्षा विभाग के संयुक्त तत्वाधान में जल संचय कार्यक्रम के तहत महुबना स्थित उत्क्रमित उच्च विद्यालय महुबना में विद्यालय के छात्र-एवं छात्राओं को जलसंचय के बारे में जागरूक किया गया। विद्यालय में जगह नहीं होने के कारण परिसर में जलसंचय के लिए गड्ढा नहीं खोदा जा सका। लेकिन इस दौरान सभी विद्यालय में गठित जलसेना के छात्र-छात्राओं को अपने-अपने गांव एवं घर में जलसंचय करने के लिए शपथ दिलाई गई। विद्यालय के छात्रों को संबोधित करते हुए विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक संतोष कुमार कोल ने कहा कि आनेवाले भविष्य के लिए सभी लोगों को जल को बर्बाद होने से रोकना चाहिए। जमीन के अंदर पानी नहीं होने के कारण जलस्तर लगातार नीचे जा रहा है। यदि वर्षा का जल को संचय कर जमीन के अंदर भेजा जाए तो निश्चित तौर पर जलस्तर उपर आएगा तथा आनेवाले दिनों में पानी की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। अधिकांश वर्षा का जल बहकर समुद्र में मिल जाती है। उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत पर जल बेकार नहीं करना चाहिए। जितनी जरूरत हो उतना ही जल खर्च करना चाहिए। इस दौरान छात्रों को अपने-अपने गांव में जाकर लोगों को जलसंचय के बारे में जानकारी देने को कहा गया।। लोगों को वर्षा जल का संचयन कर जमीन के अंदर भेजने के लिए प्रेरित करने को कहा गया। जल की रक्षा के लिए विद्यालय में 15 सदस्यीय जलसेना का भी गठन किया गया। जिसमें दशम वर्ग के सौरभ कुमार सेन, नयन कुमार सेन, उत्तम कुमार पंडित, किशोर कुमार मंडल, रिया कुमारी सेन, पूनम कुमारी, प्रियंका कुमारी ए, प्रियंका कुमारी बी, छिमंत कुमार मांझी, प्रीति कुमारी, वंदन कुमारी, पूजा कुमारी, नरेश मांझी, विशाल कुमार सेन शामिल हैं।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप