बासुकीनाथ : बासुकीनाथ स्थित प्राचीन दुर्गा मंदिर में इस वर्ष सार्वजनिक गणेशोत्सव के लिए 60 हजार रुपये का बजट तैयार किया गया है। इस बाबत फौजदारी सेवा ट्रस्ट के तत्वावधान में मंगलवार को एक सामूहिक बैठक दुर्गामंदिर प्रांगण में हुई। जिसमें दुर्गामंदिर प्रांगण में धूमधाम से गणेशोत्सव मनाने पर चर्चा की गई। बैठक में गणेश पूजा पर कुल खर्च का बजट 60 हजार रुपये निर्धारित किया गया। सर्वसम्मति से निर्णय हुआ कि इस वर्ष गणेश पूजा पर सार्वजनिक दुर्गामंदिर में सपत्नीक मुख्य यजमान अनिल पंडा होंगे। इस अवसर पर बैठक में पूजा कमेटी के अनिल पंडा, कुंजो बाबा, शिवशंकर पांडेय, मुकेश चंद, बद्री मोदी, मोहन दे, आशीष दे, तारक मोदी, नपं के वार्ड पार्षद सुबोध पाल, रोहित दे, अमर दे, बासुकी गोस्वामी, राकेश गोस्वामी, दीपक नाग, सुधांशु गोस्वामी, विकास साह, विशाल कुमार, रवि गुप्ता, बीरबल दे, शुभम नाग, संतोष दे, सोनू राव सहित दर्जनों अन्य मौजूद थे।

बासुकीनाथ मंदिर में भी धूमधाम से होगा गणेश पूजन

बासुकीनाथ में 13 सितंबर दिन गुरुवार को गणेश चतुर्थी पर विशेष पूजन का कार्यक्रम होगा। इसकी तैयारी को लेकर बासुकीनाथ के पंडा पुरोहित जुट गए हैं। बासुकीनाथ मंदिर के पंडा अमरकांत झा, सुबोधकांत झा उर्फ पार्थो बाबा ने बताया कि शास्त्रों में वर्णित है कि सर्वप्रथम पूज्य बुद्धि, समृद्धि, सौभाग्य के भगवान गणेश विघ्नविनाशक हैं। पुराणों में वर्णित है कि भाद्रपद मास शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को दोपहर के समय मध्याह्न बेला में गणेश जी का जन्म हुआ था। इसलिए इस तिथि को गणेश चतुर्थी अथवा सिद्धि विनायक चतुर्थी भी कहा जाता है। बासुकीनाथ के पंडित मणिकांत झा ने बताया कि कलियुग में शक्ति की उपासना शीघ्र फलदायी है। बासुकीनाथ मंदिर में आगामी 13 सितंबर गुरुवार को गणेश पूजन को लेकर कई कार्यक्रम किए जाएंगे एवं भक्तों के द्वारा विधिवत पूजन कर लड्डू का भोग लगाया जाएगा।

Posted By: Jagran