चिकनिया : जामा हाईस्कूल मैदान में भाजपा के सदस्यता अभियान की शुरूआत करने के बाद जैसे ही मुख्यमंत्री रघुवर दास देवघर के लिए रवाना हुए। भाजपा के ही कार्यकर्ता जिलाध्यक्ष निवास मंडल की कार्यशैली पर भड़क गए और उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सभी की नाराजगी मुख्यमंत्री से नहीं मिलाने पर थी। दरअसल मुख्यमंत्री के जाते ही जामा उपप्रमुख सह, भाजपा नेता इंद्रकांत यादव के नेतृत्व में करीब पांच दर्जन ओबीसी भाजपा कार्यकर्ता मंच के करीब पहुंच गए और जिलाध्यक्ष पर आरोप लगाया कि उनकी वजह से वे लोग मुख्यमंत्री से नहीं मिल सके। उनका कहना था कि दुमका जिले सहित झारखंड राज्य में ओबीसी कोटा से 27 फीसद लागू करने की मांग को लेकर ज्ञापन तैयार किया था। मुख्यमंत्री से मिलने के लिए जा रहे थे लेकिन बीच में हस्तक्षेप करते हुए जिलाध्यक्ष ने मिलने से रोक दिया। आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने काफी हंगामा मचाया। निवास मंडल का कार्यकर्ताओं ने स्थल पर कड़ा विरोध प्रदर्शन किया और उन्हें पद से हटाने को लेकर आंदोलन करने की चेतावनी तक दे डाली। इन्द्रकांत ने कहा कि ओबीसी को वोट बैंक की तरह इस्तेमाल किया गया है ओबीसी जीत दिलाती है लेकिन लाभ नहीं मिल रहा है हमलोग यही बात रखना चाहते थे लेकिन निवास मंडल ने बीच में ही रोक दिया। उनके जैसे लोगों की वजह से ओबीसी को सही जगह नहीं मिल पा रही है। जब तक अध्यक्ष पद से नहीं हटेंगे, तब तक विरोध जारी रहेगा। वहीं जिलाध्यक्ष का कहना था कि मुख्यमंत्री ने स्वयं बाद में मिलने की बात कही थी। व्यस्तता होने के कारण मुख्यमंत्री के पास समय नहीं था, उन्हें देवघर भी जाना था। चंद लोग बिना वजह मामले को तूल देने का प्रयास कर रहे थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस