दुमका शहर में गुरुवार को अतिक्रमणकारियों के खिलाफ प्रशासन का बुलडोजर चला। सदर अनुमंडल पदाधिकारी महेश्वर महतो के नेतृत्व में शहर के कई इलाकों में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया द्य अतिक्रमण हटाओ अभियान की शुरुआत शहर के बस स्टैंड से प्रारंभ किया गया जो शहर के टीन बाजार, सिधी चौक, गांधी मैदान जैसे भीड़भाड़ वाले इलाकों में चलाया गया। इस दौरान फुटपाथ से दुकान नहीं हटाने वालों वाले दुकानदारों से जुर्माना भी वसूला गया। बस स्टैंड के समीप लगाए गए फल दुकानों को जेसीबी लगाकर हटाने की कार्रवाई की गई। इसके पहले भी इन दुकानदारों को फुटपाथ पर दुकान नहीं लगाने की चेतावनी दी गई थी, लेकिन इन पर कोई असर नहीं पड़ रहा था। सड़कों पर अतिक्रमण कर दुकान लगा लेने से आवागमन में काफी परेशानी हो रही है। प्रशासन के अतिक्रमण हटाओ अभियान से छोटे-मोटे दुकानदारों की परेशानी बढ़ गई है। छोटे दुकानदारों का कहना है कि प्रशासन हर बार उन्हीं को निशाना बनाती है। अभियान के नाम पर उनकी रोज-रोटी छीन ली जाती है। जबकि, जो लोग सरकारी जमीन और नालों पर बड़े-बड़े घर बना लिए हैं उस पर प्रशासन की मेहरबानी बरसती है। अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान एसडीपीओ नूर मुस्तफा, नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी गंगाराम ठाकुर, नगर थाना प्रभारी देवव्रत पोद्दार समेत काफी संख्या में पुलिस बल मौजूद थे। एसडीओ महेश्वर महतो ने कहा कि अभी यह अभियान लगातार चलाया जाएगा। क्या कहते हैं एसडीओ

सिविल एसडीओ महेश्वर महतो ने बताया कि उपायुक्त के स्तर पर अतिक्रमण हटाने का आदेश प्राप्त हुआ था, जिसके आलोक में सड़कों से अतिक्रमण मुक्त कराया गया है आगे भी इस तरह की कार्रवाई जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि कई दुकानदारों को चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है। यदि दोबारा अतिक्रमण करते हैं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran