संवाद सहयोगी, राजगंज: शादी के महज सात महीने बाद ही पति-पत्नी में इतनी कड़वाहट आ गई कि पत्नी के लिए घर का दरवाजा बंद कर दिया गया। मजबूरन पत्नी अपने पति के घर के दरवाजे के सामने एक सप्ताह से पड़ी है। उसकी मां भी साथ में है। पड़ोस के लोग खाना दे रहे हैं। मामला राजगंज थाना अंतर्गत जरमुनई का है। पीड़िता स्थानीय थाना में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई।

क्या है मामला: डालटेनगंज निवासी डिकी अग्रवाल का विवाह मनीष अग्रवाल के साथ वर्ष 2020 नवंबर माह में बगोदर स्थित हरिहर धाम में हुआ था। थाने में आवेदन में पीड़ित ने कहा है कि पिता ने अपने साम‌र्थ्य के अनुसार दान दहेज दिया था। पति कोलकाता में काम करता है। शादी होने के बाद वह जरमुनई अपनी ससुराल आ गई। करीब 2 माह के बाद पति कोलकाता ले गया। वहांएक माह रहने के बाद उसे मायके पहुंचा दिया। कई माह गुजर जाने के बाद पति को बुलाने का कोशिश की, लेकिन वह नहीं आया। इसके बाद बाध्य होकर अपनी मां शोभा देवी के साथ 24 जुलाई को ससुराल जरमुनई आई। उस वक्त घर में सास और ससुर थे। दोनों ने घर में घुसने नहीं दिया और ताला बंद कर वे कहीं चले गए जो आज तक नहीं लौटे हैं। दो दिन बाद 27 जुलाई को राजगंज थाना में लिखित शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई।

स्थानीय पुलिस ने मामला महिला थाना को सुपुर्द कर दिया। एक सप्ताह से न्याय की आस में ससुराल के दरवाजे पर हैं। स्थानीय पंचायत का एक तथाकथित नेता द्वारा भाग जाने की धमकी दी जा रही है।

Edited By: Jagran