धनबाद, जेएनएन : कुल्टी की रहने वाली रेहाना इंसाफ के लिए थाना का चक्कर लगा रही है। उसका आरोप है कि वासेपुर के रहने वाली सैयद नौशाद आलम के साथ उनका निकाह हुआ। उन्हें बिना तलाक दिए ही पति सैयद नौशाद आलम ने दूसरा विवाह कर लिया।

वह अपने सात साल के बेटे के साथ भटकने को मजबूर है। वहीं बैंक मोड़ थाना ने भी उनके साथ सहानुभूति नहीं दिखाई। ऐसे में रेहान अपने बच्चे को लेकर थाना में ही बैठी हुई है। मामले के संबंध में रेहाना ने बताया कि उनका निकाह वासेपुर के नौशाद आलम के साथ वर्ष 2013 में हुआ था।

शादी के बाद उन्हें एक बेटा भी हुआ। बेटे के जन्म के बाद से ही सास, ननद और पति ने उन्हें प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। उनके साथ प‍िटाई की जाती थी। खाने-पीने को नहीं दिया जाता था। किसी प्रकार से वह अपनी जान बचाते हुए बेटे को लेकर वासेपुर से निकल कर कुल्टी पहुंच गई। पहले तो पारिवारिक स्तर पर नौशाद आलम और उसके स्वजनों को काफी समझाने का प्रयास किया गया। इसके बाद भी ससुरालवाले नहीं मानें तो समाज के प्रतिष्ठित लोगों ने भी समझौता कराने का प्रयास किया। लेकिन नौशाद और उसके परिवार वाले मानने को तैयार नहीं थे। बुधवार को बैंक मोड़ थाना पहुंची रेहाना ने जब अपनी फरियाद पुलिस से की तो भी उसे थाना से भागने को कहा गया। इंसाफ नहीं मिलने से रेहाना बुरी तरह थाना में ही रोने लगी। बाद में उसे थाना प्रभारी के आने तक बैठने को कहा गया।

Edited By: Atul Singh