धनबाद, जेएनएन। शहर में लगातार दो दिन से झमाझम बारिश से लोगों के मन में आशंकाओं के बादल घमड़-घूमड़ रहे हैं। दिवाली में क्या होगा? 27 नवंबर को दिवाली है। क्या दिवाली के उत्साह को भी बारिश की बूंदें कम कर देंगी। पहले ही दुर्गा पूजा के उत्साह पर बारिश पानी डाल चुकी है। इसी कारण माैसम को लेकर लोगों का मन-मिजाज चिंतित है।

शनिवार को धनबाद शहर में जमकर बारिश हुई। रविवार को दोपहर में एक बार फिर माैसम ने पलटा खाया और झमाझम बारिश हुई। कई इलाकों में एक से डेढ़ घंटे तक झमाझम बारिश हुई इससे नालियों का पानी सड़कों पर बहने लगा। कई इलाकों में बाढ़ सा नजारा दिखने लगा। लोग घरों में कैद हो गए। जलजमाव के कारण चंद्र विहार कॉलोनी, डॉक्टर भदानी क्लिनिक, जालान अस्पताल,  पंडित क्लीनिक रोड, हाउसिंग कॉलोनी में थोड़ी देर के लिए लगा कि बाढ़ आ गई है।

19 अक्टूबर शनिवार को सुबह से ही घना कोहरा छाया रहा और तेज गर्जन के साथ थम थम कर बारिश होती रही। अगले 22-23 अक्टूबर तक मौसम का मिजाज ऐसे ही बने रहने की संभावना है। मानसून एक्सपर्ट डॉ. एसपी यादव के मुताबिक, अरब सागर के बादल साइक्लोनिक सर्कुलेशन की वजह से मुंबई की ओर आ रहे हैं। वहां से मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ होकर झारखंड की ओर बढ़ रहे हैं। वहां समुद्री गर्म हवा बादलों को इस ओर तेजी से धकेल रहे हैं जिनमें पहुंचकर शीतलता आ रही है। बादलों के टुकड़े छोटे होने की वजह से ज्यादा गरज रहे हैं।

डॉ. यादव ने बताया कि 23 तक इन बादलों के सक्रिय बने रहने का अनुमान है। इसके बाद अरब सागर में एक बार फिर साइक्लोनिक सर्कुलेशन बनेगा। हालांकि दिवाली के बारे में माैसम एक्सपर्ट अभी दावे के साथ कुछ भी कहने की स्थित में नहीं है। यादव का कहना है कि 23 के बाद ही कुछ कहा जा सकता है  कि दिवाली में माैसम कैसा रहेगा?

Posted By: Mritunjay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप